डॉगफाइट में विंग कमांडर अभिनंदन को गाइड करने वाली महिला कंट्रोलर को युद्ध सेवा मेडल

स्क्वाड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल ने ही विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान से कहा था कि वह वापस आ जाएं, लेकिन वह निर्देश सुन नहीं सके क्योंकि पाकिस्तानी वायु सेना ने कम्युनिकेशन सिस्टम जाम कर दिया था.

नई दिल्ली: भारतीय वायु सेना की स्क्वाड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल को युद्ध सेवा मेडल से सम्मानित किया गया है. स्क्वाड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल ने 27 फरवरी की डॉगफाइट के दौरान विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान को गाइड किया था. युद्ध सेवा मेडल युद्ध या संघर्ष के दौरान एक विशिष्ट सेवा को मान्यता देने के लिए दिया जाता है.

सेवा मेडल से सम्मानित होने के बाद मिंटी अग्रवाल ने कहा, “मैंने 26 फरवरी और 27 फरवरी को दोनों मिशनों में हिस्सा लिया था. विंग कमांडर अभिनंदन जब हवा में थे तब हमारे बीच टू-वे-कम्युनिकेशन (दोनों तरफ से संवाद) हो रहा था.”

जानकारी के मुताबिक महिला फाइटर कंट्रोलर मिंटी अग्रवाल 27 फरवरी की सुबह ड्यूटी पर सात फाइटर कंट्रोलर्स की टीम का हिस्सा थीं. उन्होंने पाकिस्तान के फाइटर जेट्स को रोकने के लिए लॉन्च किए गए भारतीय वायु सेना के इंटरसेप्शन पैकेज को कंट्रोल किया था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मिंटी अग्रवाल ने ही विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान से कहा था कि वह वापस आ जाएं, लेकिन वह निर्देश सुन नहीं सके क्योंकि पाकिस्तानी वायु सेना ने कम्युनिकेशन सिस्टम जाम कर दिया था.

मिंटी अग्रवाल ने कहा, “विंग कमांडर अभिनंदन जब उड़ान भर रहे थे, तब मैं ही उन्हें हवाई स्थिति की तस्वीर मुहैया करा रही थी. मैंने उन्हें दुश्मन के विमानों के पॉश्चर के बारे में जानकारी पहुंचाई थी.”

ये भी पढ़ें: पतंग के मांझे में उलझी दिल्ली मेट्रो की रफ्तार, रक्षाबंधन पर यात्री हुए परेशान