राजधानी एक्सप्रेस में डॉक्टर न मिला तो TTE ने करवाई महिला की डिलिवरी, रेलवे को है गर्व

दिल्ली से डिब्रूगढ़ जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस में एक गर्भवती महिला भी सफर कर रही थीं. गुरुवार रात को जब ट्रेन के मुगलसराय पहुंचने वाली थी तो अचानक उन्हें लेबर पेन होने लगा.

नई दिल्ली: रेलवे के टीटीई एच एस राणा ने चलती ट्रेन में एक महिला को लेबर पेन होने पर उसकी मदद की. महिला और उसका बच्चा दोनों ही स्वस्थ हैं. टीटीई राणा के इस काम की हर तरफ तारीफ हो रही. उनका फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

बुधवार को दिल्ली से डिब्रूगढ़ जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस में एक गर्भवती महिला भी सफर कर रही थीं. गुरुवार रात को जब ट्रेन के मुगलसराय पहुंचने वाली थी तो अचानक महिला को लेबर पेन होने लगा. महिला को तड़पते देख टीटीई एचएस राणा ने ट्रेन में एनाउंसमेन्ट करके डॉक्टर को बुलाने का प्रयास किया, लेकिन मौके पर कोई डॉक्टर नहीं मिला तो टीटीई ने अपनी टीम के साथ कुछ बुजुर्ग महिलाओं को जगाया और उनकी मदद लेकर महिला की डिलीवरी में मदद की.

टीटीई एचएस राणा के साथ उस दौरान मौजूद उनकी टीम के एक सदस्य धर्मेंद्र का कहना है कि बच्ची ट्रेन में पैदा हुई है तो उसका नाम भी राजधानी या ट्रेन के नाम पर होना चाहिए, ताकि सबको याद रहे कि बच्ची ट्रेन में पैदा हुई थी. टीटीई का यह सराहनीय कार्य सबके लिए सीख है कि किस तरह से ऐसी परिस्थितियों में प्रेजेंस ऑफ माइंड से दूसरों की मदद करनी चाहिए.

भारतीय रेलवे ने भी राणा की इस पहल की काफी तारीफ की है. रेलवे मंत्रालय ने ट्वीट कर राणा के इस मानवीय और नेक काम की सराहना की है.

ये भी पढ़ें-

रेप पीड़िता के परिवार को तीन महीने तक रखा बहिष्कृत, पंचायत ने अब सुनाया नॉनवेज पार्टी का फरमान

रोहतक: बहन की शादी में जाने को छुट्टी नहीं मिली तो डॉक्टर ने की सुसाइड, HoD के विरोध में हड़ताल

मोदी सरकार ने पिछले साल मुस्लिम छात्रों को दी 80% स्‍कॉलरशिप, हिंदुओं को सिर्फ 5 प्रतिशत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *