नीट परीक्षा में लड़कों के मुकाबले कम संख्या में शामिल हुईं लड़कियां, कोरोना का असर?

पिछले चार सालों में ऐसा पहली बार हुआ है जब लड़कों के मुकाबले लड़कियों ने कम संख्या में नीट (NEET) की परीक्षा दी है. साल 2020 में 6,18,075 लड़कों ने फार्म भरा था जिसमें से 86.25 फीसदी ने परीक्षा दी. वहीं, 7,48,866 लड़कियों ने फार्म भरा था जिसमें से 85.02 फीसदी ही परीक्षा में शामिल हुईं.

राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) में इस साल लड़कों (Boys) के मुकाबले लड़कियों (Girls) ने कम संख्या में भाग लिया. ऐसा माना जा रहा है कि कोरोनावायरस महामारी के चलते लड़कियां परीक्षा केंद्र नहीं पहुंची. पिछले चार सालों में ऐसा पहली बार हुआ है जब लड़कों के मुकाबले लड़कियों ने कम संख्या में नीट की परीक्षा दी है. साल 2020 में 6,18,075 लड़कों ने फार्म भरा था जिसमें से 86.25 फीसदी ने परीक्षा दी. वहीं, 7,48,866 लड़कियों ने फार्म भरा था जिसमें से 85.02 फीसदी ही परीक्षा में शामिल हुईं.

इस साल उपस्थिति दर औसतन 92.85 फीसदी से घटकर 85.57 फीसदी पर आ गई. इसमें लड़कियों की उपस्थिति दर में ज्यादा गिरावट आई है. राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) के मुताबिक, इस साल 86.25 फीसदी पुरुष अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए , यह संख्या पिछले साल के मुकाबले 6.38 फीसदी कम है. दूसरी तरफ, इस साल 85.02 फीसदी महिला अभ्यर्थियों ने नीट परीक्षा दी जोकि साल 2019 की तुलना में 8.01 फीसदी कम है.

NEET 2020: 96 फीसदी नंबरों के साथ चमके पुलवामा के खान बासित, कश्मीर के लिए गर्व का पल

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर हुई नीट परीक्षा

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर केंद्र सरकार ने एक लाख के करीब एमबीबीएस और बीडीएस सीटों के लिए देश भर में मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट आयोजित कराया. 2017, 2018 और 2019 के लिए उपस्थिति आंकड़ों से पता चलता है कि महिला उम्मीदवारों ने हमेशा अपने पुरुष समकक्षों की तुलना में उच्च उपस्थिति दर दर्ज की है.

इस साल नेशनल मेडिकल और इंजीनियरिंग टेस्ट जिस समय आयोजित किए गए, उसे लेकर कई तरह के सवाल खड़े हुए. कोरोना महामारी को देखते हुए कई सारे छात्रों और अभिभावकों की यह मांग की थी कि परीक्षा को टाल दिया जाए. यह मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा. कोर्ट ने परीक्षा टालने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी. इसके बाद परीक्षा तय समय पर ही यानी 13 सितंबर को आयोजित की गई.

नीट-2020 परीक्षा का रिजल्ट जारी

गौरतलब है कि हाल ही में नीट-2020 परीक्षा का रिजल्ट जारी किया गया है. रिजल्ट के साथ एनटीए ने फाइनल प्रश्नोत्तर भी जारी कर दिए गए. इस परीक्षा में दिल्ली की आकांक्षा सिंह और उड़ीसा के शोएब आफताब ने 720 में से 720 अंक लाकर टॉप किया है.

शोएब ने इसके अलावा दूसरा इतिहास उड़ीसा में पहली बार नीट टॉपर बनकर भी रचा है. 100 प्रतिशत अंक पाने वाले आकांक्षा सिंह और शोएब के परिजन अपने बच्चों की मेहनत और जज्बे से बहुत खुश हैं.

NEET 2020 Topper: शोएब आफताब ने रचा इतिहास, टॉप आने का पूरा क्रेडिट दिया मां को

Related Posts