पीवी सिंधु ने रचा इतिहास, पहली बार किसी भारतीय ने जीती वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप

रविवार को फाइनल में सिंधु का मुकाबला जापान की नोजोमी ओकुहारा के बीच होने वाला है. सिंधु वर्ल्ड रैंकिंग में पांचवें और यू फेई तीसरे स्थान पर हैं.
pv sindhu, पीवी सिंधु ने रचा इतिहास, पहली बार किसी भारतीय ने जीती वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप

नई दिल्ली: भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु स्विट्जरलैंड के बासेल में खेले जा रहे वर्ल्ड बैडमिंटन चैम्पियनशिप के फाइनल में जीत हासिल की है. सिंधु ने जापान की नोजोमी ओकुहारा को 21-7 से करारी  हार दी.

रविवार को फाइनल में सिंधु का मुकाबला जापान की नोजोमी ओकुहारा के बीच मुकाबला खेला गया. सिंधु वर्ल्ड रैंकिंग में पांचवें और यू फेई तीसरे स्थान पर हैं. दोनों के बीच अब तक 9 मैच खेले गए. इनमें सिंधु ने 6 बार जीत दर्ज की. यू फेई को सिर्फ तीन मुकाबलों में सफलता मिली. सिंधु ने दोनों के बीच हुए पिछले मैच में भी जीत हासिल की थी.

सिंधु ने सेमीफाइनल में चीन की चेन यू फेई को 21-7, 21-14 से हराया. सिंधु ने यह मुकाबला 40 मिनट में अपने नाम किया. सिंधु लगातार तीसरी बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचीं. इससे पहले 2018 में उन्हें स्पेन की कैरोलिना मरीन और 2017 में जापान की नोजोमी ओकुहारा के खिलाफ खिताबी मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था.

सिंधु ने इससे पहले क्वार्टर फाइनल में दूसरी सीड ताइपे की ताई जू यिंग को 12-21, 23-21, 21-19 से हराया था. सिंधु 2018 और 2017 में रजत पदक जीती थीं. वहीं, 2013 और 2014 में कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा था.

सेमीफाइनल में जीत के बाद सिंधु ने कहा, ”खुद को केंद्रित रखना अहम है. अभी मेरे लिए यह खत्म नहीं हुआ है. हां, मैं खुश हूं लेकिन अभी संतुष्ट नहीं हूं. अभी एक और मैच बाकी है और मैं स्वर्ण पदक जीतना चाहूंगी.” उन्होंने कहा, ”यह इतना आसान नहीं होगा. मुझे ध्यान लगाए रखना होगा, संयम रखना होग और फाइनल में अपना सर्वश्रेष्ठ देना होगा.”

Related Posts