तुम्हारे ही PM इमरान ने कहा था पाक में हैं 40,000 आतंकी- UN की रिपोर्ट पर भारत का पाकिस्तान को जवाब

पिछले साल जुलाई में इमरान खान (Imran Khan) ने वॉशिंगटन में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि पाकिस्तान (Pakistan) के पास अभी भी 30,000 से 40,000 हथियारबंद लोग हैं जो अफगानिस्तान और कश्मीर के इलाकों में लड़ने के लिए ट्रेनिंग ले रहे हैं.
India response to Pakistan on UN report, तुम्हारे ही PM इमरान ने कहा था पाक में हैं 40,000 आतंकी- UN की रिपोर्ट पर भारत का पाकिस्तान को जवाब

संयुक्त राष्ट्र की हाल ही में पेश की गई रिपोर्ट अफगानिस्तान में हजारों पाकिस्तानी आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में बताती है. इस मामले से परिचित लोगों का कहना है कि ये रिपोर्ट पिछले साल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के एक बयान को ही दोहरा रही है. इमरान खान ने पिछले साल एक समारोह में कहा था कि उनके देश में 40,000 आतंकवादियों ने ट्रेनिंग ली है और जो अफगानिस्तान में तैनात हैं.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

संयुक्त राष्ट्र की इस रिपोर्ट का जिक्र किए जाने के बाद पाकिस्तान की इस पर जो प्रतिक्रिया आई, उसके जवाब में मामले से जुड़े लोगो ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की एनलिटिकल सपोर्ट एंड सेंक्शन मॉनिटरिंग (Analytical support and sanction monitoring team) टीम ने केवल इमरान खान के बयान को दोहराया है.

आतंक फैलाने में जैश और लश्कर का अहम रोल

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले महीने संयुक्त राष्ट्र ने एक रिपोर्ट जारी की थी, जिसमें कहा गया था कि लगभग 6,500 पाकिस्तानी आतंकी अफगानिस्तान में ऑपरेट कर रहे हैं और जैश-ए-मोहम्मद (JeM) और लश्कर-ए-तैयबा (LeT) युद्ध से ग्रसित देशों में विदेशी आतंकियों को लाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं. इस मामले से परिचित एक व्यक्ति ने कहा कि पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय को इस बात को ध्यान करना चाहिए कि खुद उनके प्रधानमंत्री ने पिछले साल ये बात कबूल की थी.

उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी नेतृत्व ने भी कई बार ये बात कबूल की है कि आतंकियों ने दूसरे देशों में आतंकी कार्रवाई के लिए उनकी (पाकिस्तान) जमीन का उपयोग किया है. मालूम हो कि पिछले साल जुलाई में इमरान खान ने वॉशिंगटन में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि पाकिस्तान के पास अभी भी 30,000 से 40,000 हथियारबंद लोग हैं, जो अफगानिस्तान और कश्मीर के इलाकों में लड़ने के लिए ट्रेनिंग ले रहे हैं.

UN के सबसे ज्यादा लिस्टेड आतंकियों का घर है पाकिस्तान

मामले से परिचित व्यक्ति ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया कि पाकिस्तान को संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट पर संदेह करने की जगह आत्मचिंतन करना चाहिए और किसी भी तरह के आतंकवाद को समर्थन देना बंद करना चाहिए. उन्होंने कहा कि दुनियाभर के देश ये जान चुके हैं कि पाकिस्तान ही आतंकवाद का केंद्र है और ये संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित ज्यदातर आतंकियों और आतंकी संगठनों का घर भी है.

हालांकि आत्मचिंतन की जगह पाकिस्तान की ओर से गुरुवार को एक बयान जारी किया गया. जिसमें पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने भारतीय विदेश मंत्रालय पर संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट को लेकर अफवाह फैलाने और पाकिस्तान की छवि खराब करने का आरोप लगाया. इसी के साथ पाकिस्तान ने भारत के आरोपों का भी खंडन किया और इसे अंतरराष्ट्रीय समुदाय को गुमराह करने की भारतीय साजिश करारा दिया.

Related Posts