Zomato ने यूजर्स बढ़ाने को रेस्‍टोरेंट्स से दिलवाई भारी छूट, अब फंस गई कंपनी

जोमैटो गोल्‍ड के जरिए 5,000 से 10,000 यूजर्स को तगड़ा डिस्‍काउंट देना था. अब गोल्‍ड यूजर्स की संख्‍या 13 लाख पार कर गई है.

Zomato ने पिछले दो साल में ऐसी बिजनेस स्‍ट्रैटजी बनाई कि रेस्‍टोरेंट्स उससे नाराज हो गए हैं. अपने गोल्‍ड प्रोग्राम के जरिए Zomato ने ग्राहकों को तो खूब डिस्‍काउंट दिए, मगर नुकसान उठाया रेस्‍टोरेंट्स ने.

साल 2018 में Zomato ने गोल्‍ड प्रोग्राम लॉन्‍च किया था. उसके बाद कंपनी ने 400 मिलियन डॉलर जुटाए हैं. यह रकम Zomato की स्‍थापना के बाद से अब तक जुटाई गई रकम का 60 फीसदी है. Zomato इसके जरिए ग्राहकों के नंबर बढ़ाता रहा, उसके आधार पर फंड भी रेज करता रहा.

Zomato ने कैसे रेस्‍टोरेंट्स को दिया धोखा

रेस्‍तरां मालिकों का कहना है कि जोमैटो गोल्‍ड का शुरुआती आइडिया ऐसा नहीं था. जोमैटो गोल्‍ड के जरिए देशभर के 5,000 से 10,000 यूजर्स को तगड़ा डिस्‍काउंट देना था. हालांकि अब जोमैटो गोल्‍ड यूजर्स की संख्‍या 13 लाख पार कर गई है. रेस्‍टोरेंट्स को इन ग्राहकों को भारी डिस्‍काउंट देने पर मजबूर होना पड़ रहा है. इतने यूजर्स हो गए हैं कि रेस्‍टोरेंट्स अपना मार्जिन तक नहीं निकाल पा रहे.

रेस्‍टोरेंट्स का दावा है कि ग्राहकों से गोल्‍ड सब्‍सक्रिप्‍शन के लिए पैसे लेने के अलावा जोमैटो ने उनसे 40 हजार रुपये की ज्‍वॉइनिंग फीस भी ली. बाद में यह फीस बढ़ाकर 75,000 रुपये कर दी गई.

जोमैटो ने माना है कि उसने ‘गलतियां’ की हैं. हालांकि कंपनी ने ग्राहकों पर जोमैटो गोल्‍ड को मिसयूज करने का ठीकरा फोड़ दिया. गोल्‍ड प्रोग्राम के तहत ग्राहकों को खाने पर 1+1, बेवरेजेज पर 2+2 का ऑफर मिलता है.

ये भी पढ़ें

Zomato से बच्‍चे ने मांगे खिलौने, फिर जो हुआ उसकी सब कर रहे तारीफ

Swiggy अब रोज घर पहुंचाएगी दूध, ब्रेड और अंडे