मध्यप्रदेश में अमित शाह की हुंकार, कहा- आतंकवादियों की काल है मोदी सरकार!

अमित शाह ने कहा कि देश में पिछले चार साल में सबसे ज्यादा आतंकवादी ढेर हुये हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान पर पिछले 4 दिन बहुत भारी रहे हैं. मगर राहुल गांधी और उनके 21 दलों की प्रेस कॉन्फेंस के बाद पाकिस्तान को खुश होने का मौका मिला. 

शहडोल: मध्यप्रदेश में अमित शाह ने सर्जिकल स्ट्राइक के बहाने मोदी सरकार को घेरने वाले विपक्ष पर सवाल उठाये हैं.  ठगबंधन वाली सारी पार्टियां जाति, धनबल, बाहुबल, परिवारवाद और तुष्टिकरण के आधार पर चुनाव लड़ती हैं. जबकि बीजेपी का चुनाव लड़ने का आधार जनसंपर्क है. वोटबैंक की राजनीति की भी हद होती है. देश की सुरक्षा को ताक पर रखकर वोट बैंक की राजनीति विरोधियों को मुबारक हो. कुछ ऐसी ही बातें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मध्य प्रदेश से #BJPVIjaySankalpBikeRally का शुभारंभ करते हुए कहीं.

एयर स्ट्राइक के विपक्ष मांग रहा है सबूत 

अमित शाह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जम कर निशाने साधे. उन्होंने कहा कि ममता जी पूछती हैं कि एयर स्ट्राइक हुई या नहीं हुई, अखिलेश कहते हैं कि पुलवामा हमले की जांच होनी चाहिए . मोदी जी के समय जब भी देश पर या देश के जवानों पर हमला हुआ, तो गोली का जवाब गोले से दिया गया है. उन्होंने कहा कि वो विरोधियों से पूछना चाहते हैं कि 1990 से ये देश आतंकवाद से पीड़ित रहा है, लेकिन क्या कभी इन्होंने आतंकवादियों को जवाब देने का हौंसला दिखाया?

पिछले 4 साल में रिकॉर्ड आतंकी हुये ढेर!

अमित शाह ने कहा कि देश में पिछले चार साल में सबसे ज्यादा आतंकवादी ढेर हुये हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान पर पिछले 4 दिन बहुत भारी रहे हैं. मगर राहुल गांधी और उनके 21 दलों की प्रेस कॉन्फेंस के बाद पाकिस्तान को खुश होने का मौका मिला.

सरकार की कूटनीति पर बड़ा बयान दिया

अमित शाह का कहना है कि मोदी सरकार की कूटनीति की वजह से आज पाकिस्तान पूरे विश्व में अलग-थलग पड़ा गया है. उन्होंने कहा कि शहीद जवानों के लिए स्मारक बनाने की अभी तक किसी सरकार को फुरसत नहीं रही थी, मोदी सरकार ने सत्ता में आते ही वीर जवानों की याद में राष्ट्रीय स्मारक बनाने की शुरूआत की और पिछले दिनों वो स्मारक देश को समर्पित किया है.

विरोधियों पर साधे निशाने

अमित शाह के मुताबिक ठगबंधन वाली सारी पार्टियां जाति, धनबल, बाहुबल, परिवारवाद और तुष्टिकरण के आधार पर चुनाव लड़ती हैं. जबकि बीजेपी का चुनाव लड़ने का आधार जनसम्पर्क है. उन्होंने कहा कि वोटबैंक की राजनीति की भी हद होती है. देश की सुरक्षा को ताक पर रख कर वोट बैंक की राजनीति विरोधियों को मुबारक हो.

दरअसल  मिशन-2019 के इरादे से बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह शहडोल दौरे पर गये थे. उन्होंने यहां से विजय संकल्प बाइक रैली का शुभारंभ किया. इस रैली के जरिए बीजेपी ने देश में लोकसभा चुनाव का शंखनाद किया है. इस रैली में बड़ी संख्या में बीजेपी कार्यकर्ता शामिल हुये.