20 का 40 करने वाले को भरने पड़ गए 7000

कोर्ट ने दुकानदार को निर्देश दिए कि ग्राहक को 12 प्रतिशत के साथ 20 रुपए वापस करे. इस दौरान हुई मानसिक पीड़ा के लिए 5000 रुपए की हर्जाना भरने के भी आदेश दिए. मुकदमे की लागत के 2000 रुपए भी 30 दिनों के भीतर लौटाने का आदेश फोरम ने दिया है.
Consumer court orders refund and compensation for charging excess in MRP, 20 का 40 करने वाले को भरने पड़ गए 7000

कर्नाटक के बेंगलुरू में एक दुकानदार को 20 रुपए की बोतल के बदले ग्राहक को 7000 रुपए से ज्यादा देने पड़ गए. हुआ यूं कि श्रीनगर के रहने वाले ओम हेगड़े उराटोटा ने रॉयल मीनाक्षी मॉल में दुकान से पानी की बोतल खरीदी. दुकानदार ने ओम को ज्यादा कीमत पर बोतल बेची, लेकिन ओम चुप नहीं बैठे.

दुकानदार के मनमाने तरीके से कीमत वसूल करने पर उन्होंने बेंगलुरू में कंज्यूमर फोरम में शिकाय़त कर दी. कोर्ट ने दुकानदार को निर्देश दिए कि ग्राहक को 12 प्रतिशत के साथ 20 रुपए वापस करे. इस दौरान हुई मानसिक पीड़ा के लिए 5000 रुपए की हर्जाना भरने के भी आदेश दिए. मुकदमे की लागत के 2000 रुपए भी 30 दिनों के भीतर लौटाने का आदेश फोरम ने दिया है.

बेंच प्रेसीडेंट वेंकटसुदर्शन डीआर और बेच की सदस्य एल. ममताने कहा कि किसी भी सामान के लिए 20 रुपए ज्यादा देना कोई बड़ी बात नहींं है. इसे दुकानदार के नजरिए से देखा जाए तो ज्यादा दाम पर सामान बेचकर एक दिन में वो कितनी उपरी कमाई कर लेता होता होगा. ओम की इस मामले को सबके सामने लाने और इसके खिलाफ लड़ने की इच्छाशक्ति की तारीफ की जानी चाहिए. इसने दुकानदारों की मनमानी पर मूकदर्शक बने रहना स्वीकार नही किया.

ओम बताते हैं कि उन्हें 20 रुपए की पानी की बोतल 40 रुपए में बेची गई. उन्होंने कहा कि दुकानदार ने अनुचित तरह से सामान बेचा. उसने दुकानदार को 20 रुपए रिफंड करने के लिए नोटिस भेजा. दुकानदार ने नोटिस का कोई जवाब नहीं दिया. उसके बाद उन्होंने कंज्यूमर कोर्ट में केस किया, जिसके बाद उन्हें रिफंड के साथ मुआवजा राशि भी मिला.

ये भी पढ़ें- फूट-फूट कर रोईं निर्भया की मां, कहा- ”कोर्ट को दोषियों के हथकंडे समझने होंगे”

दिल्ली में कांग्रेस निराश, शर्मिष्ठा मुखर्जी ने चिदंबरम से पूछा- किस बात की खुशी मना रहे हैं?

Related Posts