370-राम मंदिर-CAA पर मचे बवाल का टूरिज्म पर नहीं पड़ा असर, भारत आने वाले टूरिस्ट्स की संख्या बढ़ी

विश्व के 9 प्रमुख देशों के टूरिस्ट एडवाइजरी के बावजूद देश के पर्यटन में भारी बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

पहले धारा 370 फिर राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला और बाद में सीएए पर मचे बवाल का असर देश के टूरिज्म पर बिल्कुल नहीं पड़ा है. इससे उल्टा इस बीच देश के टूरिज्म में बढ़ोतरी हुई है.

मंत्रालय के आंकड़े इस बात की गवाही दे रहे हैं. विश्व के 9 प्रमुख देशों के टूरिस्ट एडवाइजरी के बावजूद देश के पर्यटन में भारी बढ़ोतरी दर्ज की गई है.

पिछले वर्ष यानी 2018 के नवम्बर महीने में विदेशी पर्यटकों की संख्या 10,12,569 थी. 2019 नवम्बर में विदेशी सैलानियों की संख्या में 7.8% की बढ़ोतरी के साथ ये आंकड़ा 10,91,946 हो गया है.

ई-वीसा के जरिये पर्यटन में 43% की बढ़ोतरी हुई है…
261956- नवम्बर 2018
375484- नवम्बर 2019

टूरिज्म से होने वाली विदेशी आय में बढ़ोतरी 19.6 % की दर्ज की गई है…
16584 हजार करोड़- नवम्बर 2018
19831 हजार करोड़- नवम्बर 2019.

विदेशी पर्यटकों की संख्या में बढ़ोतरी- (बांग्लादेश को छोड़कर)
10.12 लाख यात्री- नवम्बर 2018
10.92 लाख यात्री- नवम्बर 2019

अकेले महामल्लपुरम में सैलानियों की संख्या में 35 % बढ़ोतरी दर्ज की गई है. हाल में पीएम के जाने के बाद मल्लपुरम में लगातार पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है.

भारत सरकार चीनी पर्यटकों को ज्यादा से ज्यादा लुभावने ऑफर देकर उन्हें भारत की आकर्षित करना चाहती है. पूरे विश्व में चीन के ज्यादातर पर्यटक विदेश घूमने जाते हैं. लगभग 17-18 करोड़ पर्यटक निकलतें हैं. इंडिया 3-3.5 लाख ही पहुंच पाते हैं.

उत्साहित मंत्रालय ने इससे अलग अब भविष्य में देश के 17 आइकॉनिक साइट्स में टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए काम करेगी. अब पर्यटकों को अधिक से अधिक लुभाने के लिए टूरिज्म मंत्रालय ने ये भी फैसला लिया है कि जहां कहीं भी लाइट या लाइट और साउंड शो होगा, वो साइट्स अब कम से कम 9 बजे तक खुलेंगे.

ये भी पढ़ें-

फरार आतंकी जलीस अंसारी गिरफ्तार, नेपाल भागने की फिराक में था 1993 धमाकों का आरोपी

केरल के बाद पंजाब विधानसभा में CAA के खिलाफ प्रस्ताव पेश

केजरीवाल पर बरसीं निर्भया की मां, चुनाव लड़ने की अटकलों को किया खारिज