NPR-NRC के खिलाफ दिल्ली विधानसभा में प्रस्ताव पास, केजरीवाल बोले- लागू नहीं होने देंगे

अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा, "गृहमंत्री ने कहा था कि पहले NPR आएगा, उसके बाद NRC आएगी. जिस मुस्लिम के पास कागज नहीं होगा उसे डिटेंशन सेंटर भेज दिया जाएगा."
Delhi Assembly passed, NPR-NRC के खिलाफ दिल्ली विधानसभा में प्रस्ताव पास, केजरीवाल बोले- लागू नहीं होने देंगे

दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly) ने शुक्रवार को एनपीआर (NPR) और एनआरसी (NRC) के खिलाफ सदन में प्रस्ताव पास किया. इसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने केंद्र सरकार से एनपीआर और एनआरसी को रोकने की अपील की. साथ ही उन्होंने कहा कि वे एनपीआर और एनआरसी को दिल्ली में लागू नहीं होने देंगे.

‘राष्ट्रपति ने कहा था कि NRC लागू किया जाएगा’ 

केजरीवाल ने कहा, “हमारे देश मे बेरोजगारी बढ़ती जा रही है, अर्थव्यवस्था पर ध्यान देना चाहिए. ऐसे समय में किसी काल्पनिक समस्या में देश को उलझा दिया जाय, ये तो ठीक नहीं है. 20 जून 2019 को राष्ट्रपति ने कहा था कि देश में प्राथमिकता के आधार पर NRC लागू किया जाएगा. उसके बाद गृहमंत्री भी कह चुके हैं. इसका मतलब NRC तो आएगा. अब कह रहे हैं कि NPR तो अलग है.”


दिल्ली सीएम ने कहा, “गृहमंत्री ने कहा था कि पहले NPR आएगा, उसके बाद NRC आएगी. जिस मुस्लिम के पास कागज नहीं होगा उसे डिटेंशन सेंटर भेज दिया जाएगा. जिस हिंदू के पास कागज नहीं होगा, उससे पूछा जाएगा कि अगर तुम पाकिस्तान से आए हो तो ठीक, नहीं तो उसको डिटेंशन सेंटर भेज दिया जाएगा. यानी भारत के हिंदू को ये लिखकर देना होगा कि वो पाकिस्तान से आए हैं, अगर ये नहीं कहेंगे तो डिटेंशन भेज दिया जाएगा.”

‘NPR के लिए की कागज जरूरी नहीं’

केजरीवाल ने कहा कि कल गृहमंत्री ने संसद में कहा था कि NPR के लिए की कागज जरूरी नहीं है. लेकिन ये नहीं कहा कि NRC के लिए कागज नहीं चाहिए. इसका मतलब है कि अगर NPR हो गया तो NRC तो आएगा ही.

उन्होंने कहा, “मेरे पास भी जन्म प्रमाणपत्र नहीं है, क्या दिल्ली के CM को डिटेंशन सेंटर भेज देंगे. पूरी कैबिनेट के पास नहीं है जन्म प्रमाण पत्र. 70 की विधानसभा में से 61 के पास जन्म प्रमाणपत्र नहीं है. तो क्या मुझे और पूरी कैबिनेट को डिटेंशन सेंटर भेज दिया जाएगा”

Related Posts