Lockdown में बढ़ी घरेलू हिंसा, महिला आयोग को मिली आम दिनों से ज्यादा शिकायतें

आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) को 23 मार्च से 30 मार्च तक महिला उत्पीड़न की 58 ऑनलाइन शिकायतें मिली हैं. आयोग की चेयरपर्सन रेखा शर्मा ने बताया कि इनमें से अधिकतर शिकायतें उत्तर भारत खासकर पंजाब, दिल्ली और उत्तर प्रदेश से आई हैं.
Domestic violence increases in lockdown, Lockdown में बढ़ी घरेलू हिंसा, महिला आयोग को मिली आम दिनों से ज्यादा शिकायतें

कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते खतरे के बीच देश में लागू किए गए लॉकडाउन के दौरान घरेलू हिंसा में बढ़ोतरी हुई है. 24 मार्च को 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा होने के बाद लोगों को घरों में रहने के लिए कहा गया. इस के बाद घरेलू हिंसा के आम दिनों से ज्यादा मामले दर्ज किए गए. ये शिकायतें राष्ट्रीय महिला आयोग के पास ऑनलाइन दर्ज करवाई गई.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) को 23 मार्च से 30 मार्च तक महिला उत्पीड़न की 58 ऑनलाइन शिकायतें मिली हैं. आयोग की चेयरपर्सन रेखा शर्मा ने बताया कि इनमें से अधिकतर शिकायतें उत्तर भारत खासकर पंजाब, दिल्ली और उत्तर प्रदेश से आई हैं. उन्होंने कहा कि घर पर बैठे हुए पुरुष तनाव का शिकार हो रहे हैं. कई बार वे अपनी कुंठा या भड़ास महिलाओं पर निकाल रहे हैं.

लॉकडाउन की वजह से शिकायतें पहुंचने में देरी

शर्मा ने बताया कि हालांकि अभी हमें इस अपराध के सटीक आंकड़े उपलब्ध नहीं हो पाये हैं. जो 58 शिकायतें हमारे पास आयी हैं, वे ई-मेल से मिली हैं. ऑनलाइन शिकायतें complaintcellncellncwn@nic.in पर भेजी जाती है. शर्मा ने कहा कि महिलाओं पर होनेवाले उत्पीड़न के मामलों का असली आंकड़ा और बढ़ सकता है. उन्होंने बताया कि समाज के निचले तबके की ज्यादातर महिलाएं डाक के जरिए अपनी शिकायतें आयोग को भेजती हैं. लॉकडाउन की वजह से इसमें देरी हो सकती है.

आयोग के आंकड़ों के अनुसार 23 मार्च से अब तक ई-मेल के माध्यम से मिली शिकायतों सहित पूरे महीने में घरेलू हिसां की कुल 291 शिकायतें दर्ज हुईं. वहीं फरवरी में 302 और जनवरी में 270 शिकायतें दर्ज की गई थीं.

सहे नहीं, सामने आएं पीड़ित महिलाएं

रेखा शर्मा ने महिलाओं से आग्रह किया है कि यदि वे घरेलू हिंसा का सामना करती हैं तो पुलिस से संपर्क करने या राज्य महिला आयोगों तक पहुंचने की कोशिश करें. उन्होंने कहा कि राज्य आयोगों ने भी घरेलू हिंसा के मामलों में बढ़त देखी है. हमने अपने सभी सदस्यों से ऐसे मामलों पर नजर रखने और उन्हें बचाने के लिए कहा है.

दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक महिलाओं के खिलाफ अपराध से जुड़े कॉल राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में बढ़ गए हैं. पहले घरेलू हिंसा, छेड़छाड़ से जुड़ी प्रति दिन 900-1000 कॉल मिलती थी. वहीं लॉकडाउन के बाद हर रोज 1000-1200 कॉल मिल रही हैं.’

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts