Delhi Election 2020: कपिल मिश्रा ने शाहीन बाग को बताया ‘मिनी पाकिस्तान’, दर्ज हुई FIR

इससे पहले चुनाव आयोग ने ट्विटर से कपिल मिश्रा की टिप्पणी को अपने मंच से हटाने के लिए कहा है, जिसमें शाहीन बाग के सीएए विरोध स्थल को 'मिनी पाकिस्तान' कहा गया है.
Kapil Mishra Statement, Delhi Election 2020: कपिल मिश्रा ने शाहीन बाग को बताया ‘मिनी पाकिस्तान’, दर्ज हुई FIR

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ‘मिनी पाकिस्तान’ वाले बयान पर मुश्किलों में घिरते नजर आ रहे हैं. दिल्ली विधानसभा चुनाव में मॉडल टाउन से बीजेपी उम्मीदवार कपिल मिश्रा के खिलाफ FIR दर्ज हो गई है. दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने दिल्ली पुलिस को कपिल मिश्रा के खिलाफ FIR दर्ज करने का निर्देश दिया.

इससे पहले चुनाव आयोग ने ट्विटर से भाजपा के मॉडल टाउन विधानसभा के उम्मीदवार कपिल मिश्रा की टिप्पणी को अपने मंच से हटाने के लिए कहा है, जिसमें शाहीन बाग के सीएए विरोध स्थल को ‘मिनी पाकिस्तान’ कहा गया है.

इसके अलावा मिश्रा ने अपने एक ट्वीट में कहा था कि आठ फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव में दिल्ली की सड़कों पर ‘हिंदुस्तान और पाकिस्तान’ का मुकाबला होगा.


आयोग के अधिकारियों ने शुक्रवार को आईएएनएस को बताया कि मिश्रा की टिप्पणी को हटाने के लिए ट्विटर को एक संदेश भेजा गया है.

इससे पहले चुनाव आयोग ने बीजेपी के नेता को उनके विवादास्पद बयान के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया और उन्हें शुक्रवार को आयोग को जवाब देने के लिए कहा.

मॉडल टाउन विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के रिटर्निग अधिकारी (आरओ) बनवारी लाल ने गुरुवार को मिश्रा को लिखे अपने पत्र में कहा, “यह देखा गया है कि शाहीन बाग पर आपके बयान के बारे में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और सोशल मीडिया में कई समाचार प्रसारित हो रहे हैं जैसे – ‘दिल्ली में छोटे-छोटे शाहीन बाग बने’, ‘शाहीन बाग में पाक की एंट्री’ और ‘भारत बनाम पाकिस्तान, आठ फरवरी दिल्ली’. आठ फरवरी को दिल्ली की सड़कों पर भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला होगा.”

अधिकारी ने मिश्रा को लिखे पत्र में कानून का हवाला भी दिया. उन्होंने कहा कि कोई भी पार्टी या उम्मीदवार ऐसी किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं हो सकते, जो मौजूदा मतभेदों को बढ़ा सकता है या विभिन्न जातियों, समुदायों आदि के बीच आपसी द्वेष पैदा कर सकता है.

आरओ ने मिश्रा की इन गतिविधियों को आदर्श आचार संहिता व कानून के प्रावधानों का उल्लंघन माना और उन्हें शुक्रवार को अपना स्पष्टीकरण देने को कहा.

बनवारी लाल ने यह भी कहा कि अगर मिश्रा अपना जवाब देने में विफल रहते हैं या उनका जवाब असंतोषजनक पाया जाता है तो उनके खिलाफ बिना किसी अन्य नोटिस के कार्रवाई की जाएगी.

दिल्ली की 70 सदस्यीय विधानसभा के लिए चुनाव आठ फरवरी को है और मतों की गिनती 11 फरवरी को होगी.

ये भी पढ़ें-

यमुना साफ करने की बात करने वाला CM, आपको दे रहा जहर जैसा पानी, अमित शाह का केजरीवाल पर हमला

CAA पर हिंसा करने वालों पर हो कार्रवाई, 154 पूर्व जजों-सीनियर अधिकारियों की राष्ट्रपति से गुहार

महात्मा गांधी को जिसने मारा वो RSS का था, जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में बोले शशि थरूर

Related Posts