Jamia Firing: अमित शाह बोले- बर्दाश्त नहीं करेंगे, जानें और किसने क्या कहा

अमित शाह ने ट्वीट किया, "आज दिल्ली में जो गोली चलाने की घटना हुई है उसपर मैंने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से बात की है और उन्हें कठोर से कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं."
firing in jamia, Jamia Firing: अमित शाह बोले- बर्दाश्त नहीं करेंगे, जानें और किसने क्या कहा

दिल्ली के जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के पास नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन में एक शख्स खुलेआम पिस्तौल लेकर घुस गया और फायरिंग करने लगा. इस घटना पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट करके कहा है कि मामले पर गंभीरता से कार्यवाही की जाएगी और दोषी को बख्शा नहीं जायेगा.

शाह ने ट्वीट किया, “आज दिल्ली में जो गोली चलाने की घटना हुई है उसपर मैंने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से बात की है और उन्हें कठोर से कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं. केंद्र सरकार इस तरह की किसी भी घटना को बर्दाश्त नहीं करेगी, इसपर गंभीरता से कार्यवाही की जाएगी और दोषी को बख्शा नहीं जाएगा.”


कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधा वाड्रा ने ट्वीट किया, “जब भाजपा सरकार के मंत्री और नेता लोगों को गोली मारने के लिए उकसाएंगे, भड़काऊ भाषण देंगे तब ये सब होना मुमकिन है. प्रधानमंत्री को जवाब देना चाहिए कि वे कैसी दिल्ली बनाना चाहते हैं? वे हिंसा के साथ खड़े हैं या अहिंसा के साथ? वे विकास के साथ खड़े हैं या अराजकता के साथ?”

आप नेता संजय सिंह ने ट्वीट किया, “गांधी जी के शहीद दिवस पर कितना घिनौना कृत्य करेगी भाजपा, दिल्ली हार के डर से बौखलाई भाजपा और गृह मंत्री अमित शाह. चुनाव टलवाने की गहरी साजिश रच रहे हैं. जामिया में दिल्ली पुलिस के हाथ अमित शाह ने बांधे इसलिये वो मूकदर्शक बनी रही.”


राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करके कहा कि ‘जामिया में आज जो कुछ भी हुआ वह हैरान करने वाला और निंदनीय है. एक शख्स बंदूक लेकर आया और एक छात्र को गोली मार दी. यह राष्ट्रीय राजधानी में दिन के उजाले में और पुलिस के सामने हुआ. प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हिंसा और पुलिस की निष्क्रीयता अपील करने वाली है.’

एआईएमआईएम चीफ और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट करके कहा, “यह आज के दिन हुआ है, जब हम आतंकी गोडसे द्वारा की गई महात्मा गांधी की हत्या को याद कर रहे हैं. ऐसे समय में जब छात्र इस मौके पर मार्च के लिए जा रहे थे. यह कायरता हमें डराने वाली नहीं है. प्रदर्शन जारी रहेंगे. अब भारत गोडसे बनाम गांधी और आंबेडकर बनाम नेहरू हो गया है. चुनाव करना आसान है.”


ओवैसी ने ट्वीट किया, “अनुराग ठाकुर और रात 9 बजे के राष्ट्रवादियों को धन्यवाद, जिन्होंने देश में इतनी नफरत फैलाई कि एक आतंकी ने छात्र को गोली मारी और सुरक्षाबल देखते रहे. पीएमओ को हमलावर को उसके कपड़ों से पहचाना चाहिए.”


उन्होंने आगे कहा कि ‘अगर लाचार दर्शक का कोई अवॉर्ड होता, तो वह हर बार आप लोगों को मिलता. क्या आप बता सकते हैं कि क्यों गोली लगे एक पीड़ित को बैरिकेड्स के ऊपर चढ़ना पड़ा? क्या आपकी सर्विस रूल इंसान होने से रोकती है?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ‘ये दिल्ली में क्या हो रहा है? दिल्ली की कानून व्यवस्था बिगड़ती जा रही है. कृपया दिल्ली की कानून व्यवस्था को सम्भालिए.’

कांग्रेस प्रवक्‍ता मनीष तिवारी ने कहा, “इस घृणा के लिए सरकार जिम्‍मेदार है. जिस तरह का प्रचार दिल्‍ली चुनाव में चल रहा है, वह वोटों के ध्रुवीकरण के लिए किया जा रहा है. जिस तरह के बयान आ रहे हैं वो सारी सीमाएं पार कर रहे हैं.”

उन्होंने कहा कि ‘ऐसे हालात देखकर महात्‍मा गांधी की रूह सिसक रही होगी. गांधी जी का मानना था कि देश का जो गरीब से गरीब व्‍यक्‍ति है, वह खुशहाल हो. लेकिन विडंबना है कि जब बजट पेश किया जाता था, तो जीडीपी के हिसाब से उसे देखा जाता है.’

ये भी पढ़ें-

Jamia Shooting: नाबालिग है पिस्तौल लहराने वाला गोपाल, देखें मार्कशीट और आधार कार्ड

Jamia: दोस्त चंदन की मौत का बदला लेने गया था गोपाल, कासगंज तिरंगा यात्रा के दौरान हुई थी हिंसा

Jamia Firing: गोली चलाने से पहले फेसबुक लाइव था आरोपी गोपाल, लिखा- खेल खत्म

Related Posts