गुड़िया रेप केस: कोर्ट ने दोनों दोषियों प्रदीप और मनोज को सुनाई 20 साल की सजा

5 साल की गुड़िया के साथ 7 साल पहले साल 2013 में हैवानियत की गई थी. वो पूर्वी दिल्ली के गीता कॉलोनी इलाके में अपने परिजनों के साथ रहती थी.
Karkardooma court Verdict, गुड़िया रेप केस: कोर्ट ने दोनों दोषियों प्रदीप और मनोज को सुनाई 20 साल की सजा

गुड़िया रेप केस में दोनों दोषियों प्रदीप और मनोज को कड़कड़डूमा कोर्ट ने 20 साल की सजा सुनाई है. साथ ही कोर्ट ने पीड़िता के परिवार को 11 लाख रुपए का मुआवजा देने का भी आदेश दिया है.

पीड़ित पक्ष ने यह कहते हुए फैसले को हाई कोर्ट में चुनौती देने की बात कही है कि दोषियों को न्यूनतम सजा दी गई है. इस मामले में करीब 7 साल बाद फैसला आया है.

शिकायतकर्ता बचपन बचाओ आंदोलन के ऐडवोकेट एच. एस. फूल्का ने कोर्ट के फैसले के बाद कहा कि ‘दोषियों ने जो गुनाह किया है, उसके लिए यह न्यूनतम सजा है. हम और कड़ी सजा के लिए दिल्ली हाई कोर्ट जाएंगे.’

5 साल की गुड़िया के साथ 7 साल पहले साल 2013 में हैवानियत की गई थी. वो पूर्वी दिल्ली के गीता कॉलोनी इलाके में अपने परिजनों के साथ रहती थी. दोषियों ने सामूहिक दुराचार के बाद पीड़िता को 36 घंटे तक बंधक बनाकर रखा था और उसकी हत्या की भी कोशिश की थी.

दोनों के खिलाफ पुलिस ने जान से मारने की कोशिश, रेप, किडनैपिंग, सबूत मिटाने और पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया था.

15 अप्रैल 2013 की शाम को गुड़िया लापता हो गई थी. 17 अप्रैल की सुबह उसका पता चला था. इसके बाद उसको इलाज के लिए एम्स अस्पताल ले जाया गया था. जहां डॉक्टरों ने उसके शरीर के अंदर से तेल की शीशी और मोमबत्ती निकाली थी. कई दिनों तक गुड़िया की हालत अस्पताल में नाजुक बनी रही.

ये भी पढ़ें-

Jamia Firing: गोली चलाने से पहले फेसबुक लाइव था आरोपी गोपाल, लिखा- खेल खत्म

Jamia firing: पुलिस के सामने 30 सेकेंड तक युवक लहराता रहा पिस्टल…कैमरे में कैद हुआ खौफ का पूरा मंजर, Video

Related Posts