• Home  »  देश   »   चार दिन बाद गृहमंत्री अमित शाह को AIIMS से मिली छुट्टी

चार दिन बाद गृहमंत्री अमित शाह को AIIMS से मिली छुट्टी

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) एक माह से कोविड के बाद की परेशानियों का सामना कर रहे थे. अगस्त में वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 10:41 pm, Thu, 17 September 20

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) को गुरुवार शाम पांच बजे एम्स (AIIMS) से छुट्टी दे दी गई. इससे चार दिन पहले शाह को संपूर्ण मेडिकल चेकअप के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल के सूत्रों ने यह जानकारी दी. शाह को 13 सितंबर को संसद के मानसून सत्र से पहले संपूर्ण जांच के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था. कोरोनावायरस से संक्रमित होने के बाद यह तीसरी बार था, जब उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था.

शाह एक माह से कोविड के बाद की परेशानियों का सामना कर रहे थे. 2 अगस्त को, वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था. गृहमंत्री को 14 अगस्त को कोरोना निगेटिव पाए जाने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया था.

शाह को 18 अगस्त को, एक बार फिर थकान और बदन दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. स्वस्थ हो जाने पर 29 अगस्त को उन्हें छुट्टी दे दी गई थी.

कंप्लीट चेकअप के लिए हुए थे भर्ती

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) को सोमवार से शुरू हुए संसद के मानसून सत्र से पहले “कंप्लीट मेडिकल चेकअप” के लिए दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था. अस्पताल द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया था कि वो अभी 1-2 दिनों के लिए अस्पताल में रहेंगे.

मीडिया और प्रोटोकॉल डिवीजन की चेयरपर्सन डॉ. आरती विज ने बताया था कि,डिस्चार्ज के समय दी गई सलाह के अनुसार, उन्हें अब संसद सत्र से पहले 1-2 दिनों के लिए पूर्ण मेडिकल चेकअप के लिए भर्ती कराया गया है. इससे पहले कहा गया था कि सांस लेने में कठिनाई का सामना करने के चलते अमित शाह जांच के लिए अस्पताल पहुंचे.

14 अगस्त को गृह मंत्री ने ट्वीट किया था कि वह अपने डॉक्टरों की सलाह पर कुछ और दिनों के लिए घर में रहेंगे. बाद में 18 अगस्त को “उन्हें पोस्ट कोविड केयर के लिए एम्स में भर्ती कराया गया. 31 अगस्त को “पूरी तरह से ठीक होने” के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी.