कन्हैया कुमार के काफिले पर फिर हमला, नारेबाजी के बाद फेंके जूते-चप्पल

हमला उस वक्त हुआ जब कन्हैया का काफिला कटिहार के राजेंद्र स्टेडियम में सभा करने के बाद भागलपुर जा रहा था.

सीपीआई नेता और जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के काफिले पर एक बार फिर हमला हुआ है. बिहार के कटिहार में कन्हैया के काफिले पर जूते-चप्पल से हमला किया गया है.

हमला उस वक्त हुआ जब कन्हैया का काफिला कटिहार के राजेंद्र स्टेडियम में सभा करने के बाद भागलपुर जा रहा था. साथ ही शहीद चौक के पास लोगों ने कन्हैया के विरोध में पोस्टर लगाए और नारेबाजी की.

प्रशासन ने मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्परता दिखाई और गाड़ियों के काफिले को आगे बढ़ा दिया. कन्हैया शुक्रवार को सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन के लिए कटिहार के राजेंद्र स्टेडियम पहुंचे थे.

गौरतलब है कि कन्हैया के काफिले पर बुधवार को बिहार के सुपौल जिले के सदर थाना क्षेत्र में कुछ असामाजिक तत्वों ने पथराव किया था. इसमें उनके काफिले में शामिल दो वाहन क्षतिग्रस्त हो गए थे. हालांकि, इस घटना में कन्हैया को कोई नुकसान नहीं पहुंचा था.

सदर थाना के प्रभारी संदीप कुमार ने बताया था कि जिले के किशनपुर प्रखंड के सिसौनी नेमनमा में सभाकर कन्हैया अपने काफिले के साथ सहरसा के लिए निकले थे. इसी दौरान मल्लिक चौक पर असामाजिक तत्वों ने पथराव कर दिया.

उन्होंने कहा कि इस घटना में एक-दो वाहनों के शीशे टूट गए हैं. इस घटना में कन्हैया को कहीं कोई चोट नहीं आई. जबकि एक-दो लोगों को हल्की चोट लगी थी. बाद में कड़ी सुरक्षा के बीच सभी वाहनों को सुरक्षित निकाला गया.

इससे पहले, शनिवार को भी कन्हैया के सीवान से छपरा जाने के क्रम में कोपा बाजार में असामाजिक तत्वों ने उनके काफिले पर पथराव किया था.

कन्हैया इन दिनों बिहार में सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में ‘जन-गण-मन यात्रा’ पर हैं. एक महीने तक चलने वाली इस यात्रा के दौरान वे बिहार के लगभग सभी प्रमुख शहरों में पहुंचेंगे और करीब 50 सभाएं करेंगे. कन्हैया ने इस यात्रा की शुरुआत 30 जनवरी को बेतिया से की है.

ये भी पढ़ें-

दिल्‍ली चुनाव के चलते टली शाहीन बाग से प्रदर्शन हटवाने की याचिका, SC ने कहा- समझते हैं परेशानी है

निर्भया केस : पटियाला हाउस कोर्ट ने नहीं मानी दोषियों का डेथ वांरट जारी करने की मांग