सदन में मंत्री से बोले लोकसभा स्पीकर ओम बिरला- आप बोलने की आज्ञा न दें, ये मेरा काम

लोकसभा सदन में मंगलवार को 'शिक्षकों के काडर में आरक्षण' विधेयक पर चर्चा हुई. चर्चा के दौरान मंत्री को स्पीकर ने दी नसीहत.

लोकसभा स्पीकर ओम बिरला सदन में नियम से अलग कुछ भी बर्दाश्त नहीं करते हैं. नेता सत्ता पक्ष का हो या विपक्ष का, उसे फटकार लगा देते हैं. नए सांसदों को ज्यादा मौके देने की कोशिश के साथ नवनिर्वाचित स्पीकर ओम बिरला सदन को ढंग से चलाने में सफल रहे हैं. मंगलवार को स्पीकर ने केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को चर्चा के दौरान नियम याद दिला दिए.

लोकसभा सदन में मंगलवार को ‘शिक्षकों के काडर में आरक्षण’ विधेयक पर चर्चा हुई. इस बिल को लोकसभा में ध्वनिमत से पास किया गया. मंत्री रमेश पोखरियाल जब सदन में बोल रहे थे तभी एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने हाथ उठाया. उन्हें सदन में बिल से जुड़े किसी पॉइंट पर ध्यान दिलाना था. इस मांग पर मंत्री रमेश पोखरियाल ने अपना भाषण रोककर सुप्रिया सुले से कहा- आप कुछ कह रही थीं.

सुप्रिया सुले ने मंत्री से अपनी बात कही. इसके बाद रमेश पोखरियाल ने बोलना शुरू किया तो स्पीकर ने उन्हें टोकते हुए कहा कि मंत्री जी आप आज्ञा न दिया करें कि आप बोलें, सदन में आज्ञा देना मेरा काम है. स्पीकर की इस टिप्पणी के बाद केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने अपनी बात आगे बढ़ाई.

कुछ ही समय में ओम बिरला की छवि एक सख्त लोकसभा स्पीकर की बनी है. सोमवार को सदन में चर्चा के दौरान जब गोरखपुर से बीजेपी सांसद रवि किशन ने सदन में भोजपुरी गाना शुरू किया था तो उनको टोकते हुए स्पीकर ने कहा था ‘आप सिर्फ अपनी बात रखिए, गाना बाद में.’ कुछ दिन पहले उन्होंने एक सांसद को बैठे बैठे बोलने पर भी डांटा था.

देखें रवि किशन का वीडियो: