पुलवामा हमलाः NIA ने दो आरोपियों को किया गिरफ्तार, Amazon से मंगाए थे विस्फोटक के लिए केमिकल्स

एक आरोपी ने बताया कि उसने अमेजन ऑनलाइन शॉपिंग (Amazon online shopping) के जरिए आईईडी बनाने के लिए केमिकल इकट्ठा किए. साथ ही जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के दिशा-निर्देश पर उसने ऑनलाइन ही बैटरी और अन्य जरूरी सामान मंगवाए.
NIA Arrests Two More Accused, पुलवामा हमलाः NIA ने दो आरोपियों को किया गिरफ्तार, Amazon से मंगाए थे विस्फोटक के लिए केमिकल्स

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने पुलवामा हमले (Pulwama Attack) मामले में दो और आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इन आरोपियों की पहचान 19 वर्षीय वैज उल इस्लाम और 32 वर्षीय मोहम्मद अब्बास राथर के रूप में हुई है.

ऑनलाइन मंगवाए केमिकल्स

शुरुआती पूछताछ में वैज उल इस्लाम ने बताया कि उसने अमेजन ऑनलाइन शॉपिंग (Amazon online shopping) के जरिए आईईडी बनाने के लिए केमिकल इकट्ठा किए. साथ ही पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के दिशा-निर्देश पर उसने ऑनलाइन ही बैटरी और अन्य जरूरी सामान मंगवाए.

वैज उल इस्लाम ने यह भी बताया कि पुलवामा हमले को अंजाम तक पहुंचाने के लिए ऑनलाइन मंगाए गए इन सामानों को उसने खुद ही जैश आतंकियों तक पहुंचाया.

घर में दी जैश आतंकियों को शरण

दूसरा आरोपी मोहम्मद अब्बास राथर लंबे समय से जैश के ओवर ग्राउंड वर्कर के रूप में काम करता रहा है. मोहम्मद अब्बास ने बताया कि उसने ही आईईडी एक्सपर्ट और जैश आतंकी मोहम्मद उमर को अपने घर में रखा था. उमर 2018 के अप्रैल-मई महीने में कश्मीर आया था.

अब्बास ने जैश के कई आतंकियों को अपने घर में शरण दी. पुलवामा हमले की साजिश रच रहे जैश आतंकी आदिल अहमद डार, समीर अहमद डार और पाकिस्तानी आतंकी कामरान कई बार अब्बास के घर पर रुके. पुलवामा हमले मामले में गिरफ्तार तारिक अहमद शाह और उसकी बेटी इंशा जान भी उसके घर पर रुके थे.

दोनों आतंकियों को शनिवार को जम्मू-कश्मीर के एनआईए के स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा. पुलवामा हमले मामले की एनआईए आगे की जांच में लगी हुई है. 14 फरवरी 2019 को हुए हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे.

Related Posts