शाहीन बाग में CAA का नहीं, PM मोदी का हो रहा विरोध: रविशंकर प्रसाद

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि 'ये शाहीन बाग वाले क्यों खामोश हैं, जब कल पाकिस्तान में एक हिंदू बेटी को अगवा किया गया. उसपर क्यों कुछ नहीं बोलते.'

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सोमवार को कहा कि शाहीन बाग प्रदर्शन केवल दिल्ली का नहीं है, ये एक विचारधारा है जो पीएम मोदी की विरोधी है. उन्होंने कहा कि ये विचारधारा झंडा तो तिरंगा लेती है लेकिन उसकी आड़ में देश तोड़ने वालों को मंच देती है. ये कहते हैं कि असम को भारत से अलग करो.

उन्होंने कहा, “ये लोग संविधान हाथ में लेकर उसके खिलाफ काम करते हैं. ये मोदी विरोधी, भाजपा विरोधी, इस्लामिस्ट, कंजर्वेटिव इस्लामिस्ट, रेडिकल इस्लामिस्ट और अर्बन माओइस्ट जैसे हारे-हताश लोगों का मंच है.”

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि वायरल वीडियो सच है तो आप खुद देखिए कि इनके पीछे कौन से लोग खड़े हैं. देश को तोड़ने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. ये बात स्पष्ट है, हम यही कहना चाहते हैं.

कानून मंत्री ने कहा कि ये विरोध CAA का विरोध नहीं है, ये नरेन्द्र मोदी जी का विरोध है. हमने बार-बार बताया कि नागरिकता संशोधन विधेयक किसी की भी नागरिकता नहीं छीनता है.

उन्होंने कहा कि ये शाहीन बाग वाले क्यों खामोश हैं, जब कल पाकिस्तान में एक हिंदू बेटी को अगवा किया गया. उसपर क्यों कुछ नहीं बोलते.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ‘मनी ट्रेल पर एजेंसियां काम कर रही हैं, उनको करने दें. लेकिन इतना तो हमने बार-बार कहा था कि ये विरोध स्वाभाविक नहीं है. ये उकसाया जा रहा विरोध है. ये विरोध कुछ लोग करवा रहे हैं. एक समय में इतने ज्यादे पैसे आये हैं, ये निश्चित चिंता का विषय है. एजेंसियों को अपना काम करने दीजिए.’

रविशंकर प्रसाद ने कहा, “अब तो जिन्ना का नाम भी शामिल हो गया है, लेकिन देश का बंटवारा नहीं होने दिया जाएगा. अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस को जिन्ना के मसले पर जवाब देना चाहिए. विपक्ष को बताना चाहिए कि पाकिस्तान जब बना तो अल्पसंख्यकों के साथ क्या हुआ, वहां पर हिंदुओं की बेटी को अगवा किया जा रहा है.”

गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में सघन प्रचार कर रहे गृह मंत्री अमित शाह लगातार अपनी सभाओं में शाहीन बाग को मुद्दा बनाते रहे हैं. रविवार को दिल्ली के रोहतास नगर में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि अगर दिल्ली को सजाना है, संवारना है तो फिर तो भाजपा को वोट दें और अगर ऐसा होगा तो शाहीन बाग पर साफ-साफ असर पड़ेगा.

अमित शाह ने कांग्रेस और आम आदमी पर दिल्ली में दंगा करने, हिंसा फैलाने और लोगों को उकसाने का आरोप लगाया है.

ये भी पढ़ें-

निर्भया गैंगरेप: पीड़िता के दोस्त की गवाही को खारिज करने की याचिका कोर्ट ने ठुकराई

बेंगलुरु के पार्क में महिला के साथ की बदतमीजी, महिला ने कॉलर पकड़कर खींच ली फोटो

छपाक विवाद : पीड़‍िता की वकील की अवमानना याचिका पर सुनवाई टली