सीएए के सपोर्ट के लिए संभल के दूल्हा और दुल्हन ने निकाला कमाल का आइडिया

मोहित मिश्रा और सोनम पाठक 3 फरवरी को शादी के बंधन में बंधने वाले हैं. दोनों ने अपने शादी के कार्ड पर मोटे अक्षरों में "वी सपोर्ट सीएए ऐंड एनआरसी" लिखवाया है.

देश भर में नागरिकता कानून और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजनशिप के समर्थन और विरोध के अलग अलग तरीके देखने को मिल रहे हैं. यूपी के संभल में भीएक जोड़े ने नागरिकता कानून और एनआरसी का अनोखे तरीके से समर्थन किया है.

मोहित मिश्रा और सोनम पाठक, 3 फरवरी को शादी के बंधन में बंधने वाले हैं. दोनों ने अपने शादी के कार्ड पर मोटे अक्षरों में “वी सपोर्ट सीएए ऐंड एनआरसी” लिखवाया है. जोड़े ने नागरिकता कानून और एनआरसी के समर्थन में ये कार्ड छपवाए हैं.

10 जनवरी से देशभर में नागरिकता कानून लागू कर दिया गया है. ये बिल 14 दिसंबर 2014 तक पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से भारत आए हिंदू, सिक्ख, बौद्ध, पारसी और ईसायों को नागरिकत देता है. इस कानून को लेकर देशभर में जगह जगह विरोध भी देखने को मिला है.

यूपी में नागरिकता कानून के विरोध में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए हैं. संभल में नागरिकता कानून के विरोध में 19 दिसंबर और 20 दिसंबर को हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए. इस हिंसक प्रदर्शन में 2 लोगों की मौत हो गई थी. बसों में तोड़फोड़ की गई और बाइकों को आग लगा दी गई. संभल के साथ चंदौसी में भी विरोध प्रदर्शन हुए. दोनों जगहों पर लगभग 19 लाख की सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान हुआ था.

एनआरसी सरकार की देखरेख में तैयार किया जाने वाला रजिस्टर है. इसमें वास्तविक भारतीय नागरिकों की पहचान और जरूरी जानकारी का रिकार्ड होगा. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर असम से गैरकानूनी तरीके से रह रहे शर्णाथियों की पहचान की जा रही है. हालांकि ये राज्य-विशेष अभ्यास है जिससे कि असम की विशिष्टता को बनाए रखा जा सके.