प्रतिनिधि नियुक्त करने पर सनी देओल की सफाई- काम सुचारू रूप से चले इसलिए बनाया ‘PA’

सनी देओल द्वारा प्रतिनिधि नियुक्त किए जाने पर विवाद बढ़ रहा था. अब सनी ने इस पर सफाई देते हुए ट्वीट किया है.

गुरदासपुर से बीजेपी सांसद सनी देओल ने प्रतिनिधि नियुक्ति के बाद हो रहे बवाल पर सफाई दी है. मंगलवार को उन्होंने बताया कि उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र में अपना ‘पीए’ नियुक्त किया है ताकि काम सुचारू रूप से चलता रहे. सनी देओल ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘ये बहुत अजीब है कि एक बिना बात की बात पर विवाद हो रहा है. मैंने अपना पीए गुरदासपुर को रिप्रजेंट करने के लिए नियुक्त किया है. ये इसलिए किया गया ताकि मेरे गुरदास पुर से बाहर रहने पर भी काम सुचारू रूप से चलता रहे.’

दरअसल 26 जून को सनी देओल ने एक लेटर जारी किया था जिसमें उन्होंने एक लेखक को अपना प्रतिनिधि बनाने की बात लिखी थी. सनी देओल की तरफ से जारी लेटर में कहा गया कि ‘मैं, गुरप्रीत सिंह पलहेरी पुत्र सुपिंदर सिंह, निवासी पलहेरी जिला मोहाली, पंजाब को अपना प्रतिनिधि नियुक्त करता हूं. वह मेरे संसदीय क्षेत्र गुरदासपुर से संबंधित बैठकों और कार्यक्रमों में शामिल होंगे.’

गुरप्रीत पलहेरी ने कहा कि ये नियुक्ति स्थानीय मसलों के लिए है. ये गुरदासपुर के लोगों के लिए 24 घंटे की सेवा में जाने जैसा है. पलहेरी ने बताया कि सनी देओल हर महीने गुरदासपुर का दौरा करेंगे. फिलहाल वह संसद सत्र के बाद गुरदासपुर आएंगे.

इस पर पंजाब की कांग्रेस सरकार में मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने सनी देओल को आड़े हाथों लिया था. उन्होंने कहा कि ‘सनी देओल ने प्रतिनिधि नियुक्त कर गुरदासपुर की जनता को धोखा दिया है. एक सांसद कैसे अपना प्रतिनिधि नियुक्त कर सकता है? मतदाताओं ने सनी देओल को अपना सांसद चुना है, न कि उनके प्रतिनिधि को.’

ये भी पढ़ें:

VIDEO: सदन में रवि किशन ने गाया भोजपुरी गाना तो लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने रोका

ताप सारंगी ने कहा- टुकड़े टुकड़े गैंग को भारत में रहने का अधिकार नहीं, देखें Video