शाहीन बाग में मासूम की मौत पर SC सख्त, पूछा- 4 महीने का बच्चा प्रदर्शन करने कैसे जा सकता है?

मुख्य न्यायधीश एस ए बोबड़े ने कहा कि हम इस समय एनआरसी, एनपीआर या किसी बच्चे को पाकिस्तानी कहा गया, इस बाबत सुनवाई नहीं कर रहे हैं.
Supreme Court remark, शाहीन बाग में मासूम की मौत पर SC सख्त, पूछा- 4 महीने का बच्चा प्रदर्शन करने कैसे जा सकता है?

सुप्रीम कोर्ट ने शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुए चार महीने के बच्चे की मौत पर नोटिस जारी किया है. कोर्ट ने बच्चे की मौत पर स्वत: संज्ञान लेते हुए केंद्र और दिल्ली सरकार को नोटिस भेजा है. कोर्ट ने चार सप्ताह में जवाब दाखिल करने के लिए कहा है.

मुख्य न्यायधीश एस ए बोबड़े ने कहा कि हम इस समय एनआरसी, एनपीआर या किसी बच्चे को पाकिस्तानी कहा गया, इस बाबत सुनवाई नहीं कर रहे हैं. बोबड़े ने कहा कि हमें मदरहूड के लिए सम्मान है. हम किसी की आवाज नहीं दबा रहे हैं लेकिन सुप्रीम कोर्ट में बेवजह की बहस नहीं करेंगे.

सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि ये बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि चार महीने के बच्चे की मौत हुई. शाहीन बाग के तीन महिलाओं ने भी खुद के पक्ष को रखने की मांग की. उन्होंने कहा कि उनके बच्चे को स्कूल में पाकिस्तानी कहा जाता है.

सुप्रीम कोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए पूछा कि क्या चार महीने का बच्चा खुद प्रदर्शन करने गया था?

शाहीन बाग की महिलाओं के एक समूह के वकील ने कोर्ट के समक्ष अपना पक्ष रखते हुए कहा कि ग्रेटा थनबर्ग जब एक प्रदर्शनकारी बनी, तब वह बच्ची थी. इसके साथ ही महिलाओं ने इलाके के स्कूलों में अपने बच्चों को पाकिस्तानी कहने पर चिंता जताई.

इस पर सीजेआई ने वकील से पूछा कि कैसे एक चार माह का बच्चा प्रदर्शन स्थल पर जा सकता है और कैसे माएं इसे सही ठहरा सकती हैं.

सीजेआई ने वकील से कहा कि अप्रासंगिक तर्क मत दीजिए कि कोई स्कूल में बच्चों को पाकिस्तानी कहता है. एनआरसी, सीएए या डिटेंशन कैंप पर बेवजह का तर्क मत दीजिए.

सुप्रीम कोर्ट ने बहादुरी के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता एक 12 वर्षीय छात्रा के पत्र पर स्वत: संज्ञान लिया था, जिसने प्रधान न्यायाधीश को एक चार माह के बच्चे को ठंड लगने की वजह से हुई मौत के बारे में बताया और कहा कि ऐसा उसे शाहीन बाग में सीएए विरोधी प्रदर्शन स्थल पर ले जाने की वजह से हुआ.

ये भी पढ़ें-

CAA के विरोध में जामिया छात्रों का संसद मार्च, सुरक्षाबलों ने होली फैमिली हॉस्पिटल के पास रोका

JNU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार की गाड़ी पर युवकों ने फेंका अंडा

छत्तीसगढ़ : मुठभेड़ में नक्सली की मौत, CRPF के 2 जवान शहीद, दो घायल

Related Posts