Exclusive: धमाकेदार पारी पर बोले राहुल तेवतिया- खिलाड़ी के लिए आत्मविश्वास जरूरी

राहुल तेवतिया (Rahul Tewatia) के लिए IPL 2020 की शुरुआत बेहद यादगार अंदाज में हुई है. राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के इस ऑलराउंडर ने सीजन के पहले दोनों मैचों में ही अपना जलवा दिखा दिया है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 8:30 am, Tue, 29 September 20
Source- IPL/BCCI

राहुल तेवतिया (Rahul Tewatia) के लिए IPL 2020 की शुरुआत बेहद यादगार अंदाज में हुई है. राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के इस ऑलराउंडर ने सीजन के पहले दोनों मैचों में ही अपना जलवा दिखा दिया है. खास तौर पर किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के खिलाफ दूसरे मैच में तेवतिया की एक बेहद उतार-चढ़ाव भरी पारी ने एक शानदार मैच को अंजाम दिया. तेवतिया ने TV9 भारतवर्ष से खास बातचीत में बताया कि उनके दिमाग में नकारात्मक ख्याल जरूर आए थे, लेकिन खुद पर भरोसा था और उन्होंने इसे अपने दिमाग से निकालकर टीम को जीत दिलाने में मदद की.

पंजाब के खिलाफ शारजाह में रॉयल्स ने तेवतिया को प्रमोट कर चौथे नंबर पर भेजा. ये फैसला गलत साबित होता दिखा जब, तेवतिया 19 गेंदों में सिर्फ 8 रन बना सके थे. तेवतिया ने माना कि उनके मन में शुरुआत में नकारात्मक ख्याल आ रहे थे.

TV9 भारतवर्ष से एक्सक्लूसिव बातचीत में तेवतिया ने कहा, “शुरुआत में जब रन नहीं बन रहे थे, तो दिमाग में नकारात्मक ख्याल आ रहे थे. एक खिलाड़ी का जीवन होता ही ऐसा है कि उतार-चढ़ाव आते हैं. ये जरूरी है कि आप कितनी जल्दी इससे उबरते हो. दिमाग में यही था कि इससे कैसे बाहर निकलकर टीम को जिताना है.”

अपनी बैटिंग को लेकर हमेशा कॉन्फिडेंट

इसके बाद 18वें ओवर में तेवतिया ने शेल्डन कॉटरेल पर 5 छक्के जड़कर मैच बदल दिया और टीम को जीत के करीब पहुंचा दिया. सिर्फ 31 गेंदों पर तेवतिया ने 53 रनों की यादगार पारी खेली. अपनी पारी के बारे में बोलते हुए तेवतिया ने कहा, “अपनी बैटिंग को काफी गंभीरता से लेता हूं और एंजॉय करता हूं. ये पहली बार मेरे साथ ऐसा हुआ है कि शुरु के 18-20 बॉल ऐसी रही. मेरे करियर की सबसे खराब 20 बॉल थीं. मैं ऐसे मौके का इंतजार कर रहा था कि IPL में टीम को बुरी स्थिति से निकालकर जिताऊं.”

पहले मैच में 3 विकेट और अब हाफ सेंचुरी जड़ने के बाद तेवतिया ने कहा कि आत्मविश्वास खिलाड़ी के लिए जरूरी होता है. उन्होंने कहा, “अगर आपका टूर्नामेंट में शुरुआत अच्छी हो तो आत्मविश्वास काफी ऊंचा होता है. एक खिलाड़ी के लिए जरूरी है कि उसका आत्मविश्वास ऊंचा रहे. अगर ऐसा नहीं होता है तो आप खुद पर संदेह करने लगते हो. हालांकि, कभी कभार संदेह करना भी जरूरी है. इससे आप मानसिक तौर पर काफी मजबूत होते हो.”

यह भी पढ़ेंः IPL 2020, RCB vs MI: ईशान किशन की 99 रनों की पारी गई बेकार, बैंगलोर ने जीता सुपर ओवर

(IPL 2020 की सबसे खास कवरेज मिलेगी TV9 भारतवर्ष पर. देखिए हर रोज: ‘रेगिस्तान में महासंग्राम’)