IPL 2020: कप्तानी में अय्यर को इन दिग्गजों से मिली मदद, कहा- इन्होंने मेरा काम आसान किया

साल 2018 में गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) द्वारा दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी छोड़ने के बाद, अय्यर को टीम की कमान मिली थी.
, IPL 2020: कप्तानी में अय्यर को इन दिग्गजों से मिली मदद, कहा- इन्होंने मेरा काम आसान किया

इंडियन प्रीमियर लीग ( IPL) की टीम दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के कप्तान और भारतीय टीम के युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ( Shreyas Iyer) ने अपनी सफलता का श्रेय दो दिग्गज खिलाड़ियों को दिया है. साल 2018 में गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) द्वारा दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी छोड़ने के बाद, अय्यर को टीम की कमान मिली थी. साल 2012 के बाद अय्यर की कप्तानी में दिल्ली कैपिटल्स  ने पहली बार 2019 में प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई किया था.  उस सीजन टीम तीसरे नंबर पर रही थी.

बतौर कप्तान अपने पहले ही मैच में उन्होंने कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) के खिलाफ 40 गेंदों में 93 रन की शानदार पारी खेली थी. इस पारी के बाद अय्यर ने पीछे मुड़कर नहीं देखा. IPL में बतौर कप्तान दम दिखाने के बाद उन्होंने भारतीय टीम (Indian Cricket Team) में भी अपनी जगह पक्की कर ली.

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में अय्यर ने कहा कि 2019 के सीजन में उनके पास सौरव गांगुली ( Sourav Ganguly) और रिकी पोंटिंग (Ricky Ponting ) के रूप में क्रिकेट को बेहतरीन तरीके से समझने वाले दो बड़े पूर्व कप्तान थे. उन्होंने मेरा काम आसान कर दिया. गांगुली दिल्ली कैपिटल्स के साथ बतौर मेंटर के रूप में जुड़े थे और पोंटिंग टीम के मुख्य कोच हैं।

टीम इंडिया में नंबर चार पर बनाई जगह

अय्यर ने कहा कि दोनों की वजह से मेरा काम बेहद आसान हो गया. उनके साथ ने मेरे अंदर यह विश्वास पैदा किया कि मैं भी अपने खेल से लोगों के दिलों में जगह बना सकता हूं और साथ ही टीम इंडिया के लिए दावेदारी भी पेश कर सकता हूं. जब अय्यर को दिल्ली कैपिटल्स की कमान मिली थी, तब भारतीय टीम में उनकी जगह पक्की नहीं थी. अब वो टीम इंडिया के लिए नंबर चार पर खेलने वाले अहम बल्लेबाज बन गए हैं.

दिल्ली की टीम में आर अश्विन (R. Ashwin) शिखर धवन ( Shikhar Dhawan) इशांत शर्मा (Ishant Sharma) जैसे सीनियर खिलाड़ी भी इस सीजन में मौजूद हैं. उन्होंने सीनियर खिलाड़ियों से भरी टीम की कप्तानी करने के बारे कहा कि सभी खिलाड़ी शानदार हैं. किसी ने कभी कोई शिकायत नहीं की. सभी मेरे फैसले का समर्थन करते हैं. वो जानते हैं कि मैं युवा कप्तान हूं. उनकी सलाह मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण है. मैं उनसे सलाह लेता रहता हूं.

 

 

Related Posts