IPL 2020: आर्चर-कमिंस की मौजूदगी में शिवम मावी और कमलेश नागरकोटी ने छोड़ी अपनी छाप

जोफ्रा आर्चर और पैट कमिंस जैसे बेहतरीन अंतरराष्ट्रीय तेज गेंदबाजों की मौजूदगी में सबसे ज्यादा प्रभावित किया भारतीय तेज गेंदबाज- शिवम मावी और कमलेश नागरकोटी ने

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 7:31 am, Thu, 1 October 20
IPL/BCCI

IPL 2020 में कोलकाता नाइट राइडर्स ने राजस्थान रॉयल्स को हराकर सीजन में अपनी दूसरी जीत दर्ज की और टीम की इस जीत के हीरो बने उसके गेंदबाज. दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में कोलकाता ने राजस्थान को 37 रनों से हरा दिया. जोफ्रा आर्चर और पैट कमिंस जैसे बेहतरीन अंतरराष्ट्रीय तेज गेंदबाजों की मौजूदगी में सबसे ज्यादा प्रभावित किया भारतीय तेज गेंदबाज- शिवम मावी और कमलेश नागरकोटी ने. दोनों ने न सिर्फ अपनी टीम कोलकाता को जीत दिलाई बल्कि दो दिग्गज गेंदबाजों की बेहतरीन बॉलिंग के बीच अपनी छाप छोड़ी

आर्चर और कमिंस की रफ्तार का दम

IPL 2020 में 30 सितंबर की शाम तेज गेंदबाजों के नाम रही. राजस्थान के पास जहां आर्चर जैसा तूफानी और जबरदस्त तेज गेंदबाज थातो कोलकाता की टीम में पैट कमिंस के रूप में दुनिया का नंबर एक टेस्ट गेंदबाज. सबसे पहले जोफ्रा आर्चर ने अपना असर दिखाया. इस मैच में आर्चर ज्यादा खतरनाक रूप में दिखे और 152 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार तक गेंद डालते रहे. अपने पहले स्पैल में आर्चर ने 3 ओवर में सिर्फ 4 रन दिए और शुभमन गिल और दिनेश कार्तिक का विकेट हासिल किया. वहीं राजस्थान की पारी शुरू होने के बाद दूसरे ओवर में पहली बार पैट कमिंस गेंदबाजी के लिए आए. कमिंस ने पहले ही ओवर में राजस्थान की पारी की स्थिति तय कर दी. राजस्थान के कप्तान स्टीव स्मिथ अपने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज के सामने एकदम बेबस नजर आए. कमिंस की रफ्तार आर्चर से थोड़ी ही कम रहीलेकिन लाइन और लेंथ उतनी ही घातक थी. नतीजा- लगातार 2 बार बड़े शॉट लगाने से चूकने के बाद स्मिथ ने किसी टेल-एंडर बल्लेबाज के अंदाज में लेग स्टंप से बाहर हटकर फिर शॉट लगाने की कोशिश की और विकेट के पीछे आउट हो गए. आर्चर और कमिंस से ऐसी गेंदबाजी की उम्मीद करना कोई बेईमानी नहीं हैक्योंकि उन्होंने लगातार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ऐसा प्रदर्शन किया है और उनके पास अनुभव है. साथ ही वह दोनों ऐसे देशों की टीमों का हिस्सा हैंजहां हमेशा ही अच्छे तेज गेंदबाज आते रहे हैं.

यह भी पढ़ें: IPL 2020: मैदान में धोनी के लिए ताली बजाना चाहते थे संजू सैमसन, बताई ये वजह

भारतीय रफ्तार की युवा जोड़ी

इन दोनों दिग्गजों के बीच सबसे अच्छे से निखरकर आए- शिवम मावी और कमलेश नागरकोटी. 2018 के अंडर-19 वर्ल्ड कप में इस भारतीय जोड़ी ने सबको चौंका दिया था. 2 साल तक चोट और अलग-अलग हालातों से जूझने के बाद आखिरकार एक बार फिर ये जोड़ी मैदान में एक साथ दिख रही है और फिर उन्होंने अपना वही अंदाज दिखाना शुरू कर दिया है. राजस्थान के खिलाफ मैच में दोनों ने जॉस बटलर, संजू सैमसन और रॉबिन उथप्पा जैसे अनुभवी बल्लेबाजों को चौंका दिया. चोट से जूझने के कारण दोनों की रफ्तार में थोड़ी कमी आई है, लेकिन बतौर गेंदबाज समझदारी में कोई कमी नहीं है. सबसे पहले शिवम मावी ने पिच के मिजाज को भांपते हुए ऑफ स्टंप की लाइन में शॉर्ट ऑफ लेंथ गेंद का इस्तेमाल किया और अभी तक राजस्थान के सबसे सफल बल्लेबाज रहे संजू सैमसन को फंसा दिया. इसके बाद अगले ओवर में मौजूदा दौर के सबसे खतरनाक बल्लेबाजों में शामिल जॉस बटलर को अपना निशाना बनाया. रन बनाने के ज्यादा मौके न मिलने के कारण बटलर ने मावी को कवर्स और पॉइंट के ऊपर से खेलना चाहा, लेकिन मावी ने गेंद को ऑफ स्टंप से कुछ ज्यादा बाहर रखा और बटलर शॉर्ट थर्डमैन पर कैच दे बैठे. ये मावी की चालाकी थी, कि उन्होंने गेंद की स्पीड को कम रखा और बटलर लाइऩ-लेंथ के साथ ही स्पीड में भी फंस गए. मावी की प्रभावी गेंदबाजी के कारण दिनेश कार्तिक ने पहले 9 ओवरों के भीतर ही उनके पूरे 4 ओवर खत्म करवा दिए, जिसमें मावी ने सिर्फ 20 रन दिए. वहीं नागरकोटी के लिए शुरुआत और भी अच्छी रही. अपना सिर्फ दूसरा IPL मैच खेल रहे नागरकोटी को पहले ओवर की पहली ही गेंद पर रॉबिन उथप्पा का विकेट मिल गया. उथप्पा ने लेग स्टंप पर रही गेंद को अच्छे से टाइम तो किया, लेकिन अपने शॉट पर ज्यादा ताकत नहीं लगा पाए और डीप स्क्वायर लेग पर लपके गए. इसी ओवर में रियान पराग ने स्क्वायर कट मारने की कोशिश की, लेकिन बैकवर्ड पॉइंट पर शुभमन गिल ने शानदार कैच ले लिया.

यह भी पढ़ें: IPL 2020: KKR के प्रदर्शन पर सचिन तेंदुलकर ने कुछ ऐसा कहा कि नि:शब्द हो गए शाहरुख खान

मावी-नागरकोटी ने जगाई उम्मीदें

अपने IPL करियर के तीसरे ही ओवर में 2 सफलताएं हासिल कर नागरकोटी न सिर्फ अपने चयन को सही साबित किया, बल्कि KKR के उस भरोसे पर भी खरे उतरे, जो 2 साल तक चोट के कारण बाहर रहने के बावजूद टीम ने उन्हें अपने साथ बनाए रखकर किया था.नागरकोटी ने साथ ही दिखाया कि वह सिर्फ एक अच्छे गेंदबाज नहीं हैं, बल्कि एक शानदार फील्डर भी हैं. जोफ्रा आर्चर ने वरुण चक्रवर्ती पर ऊंचा शॉट खेला, और लॉन्ग ऑन से दौड़कर आए नागरकोटी ने एक बेहतरीन डाइव लगाकर वो कैच भी लपक लिया. ये दोनों गेंदबाज कितना आगे जाएंगे, यह इस सीजन में इनके प्रदर्शन पर निर्भर करेगा. फिलहाल टीम इंडिया में जगह बना पाना इतना आसान नहीं है, क्योंकि तेज गेंदबाजी के डिपार्टमेंट में भारत के पास इस वक्त कई बेहतरीन और अनुभवी विकल्प हैं, लेकिन इन दोनों का ये प्रदर्शन दर्शाता है कि अच्छे तेज गेंदबाजों की आने वाले वक्त में कमी तो नहीं होगी.

(IPL 2020 की सबसे खास कवरेज मिलेगी TV9 भारतवर्ष पर. देखिए हर रोज: ‘रेगिस्तान में महासंग्राम)