धोनी का रिएक्शन देख सहम गया अंपायर, फैसले पर लिया U-टर्न, CSK को बैन करने की मांग

अंपयार पॉल रिफेल ने गेंद को वाइड देने के लिए हाथ उठा ही लिया था लेकिन तभी धोनी ने उस पर विरोध जताया और अंपायर को दोबारा अपने फैसले पर विचार करना पड़ा.

महेन्द्र सिंह धोनी विकेट के आगे से तो लंबे लंबे शॉट्स लगाते ही हैं, लेकिन जब वो विकेट के पीछे होते हैं तो भी 22 गज के एरिया की हर एक हलचल पर उनकी पैनी निगाह होती है. कभी कभी तो सामने खड़ा अंपायर भी वो नहीं देख पाता तो धोनी विकेट के पीछे से भांप लेते हैं. क्रिकेट में जितनी बार धोनी ने DRS के जरिए अंपायर के फैसले को चैलेंज किया है उनमें से ज्यादातर में नतीजे उनके हक में आए . यही वजह है कि मामला जब धोनी या उनकी टीम से जुड़ा होता है तो अंपायर को भी अपने फैसले को लेकर गहन विचार या फिर उसे बदलने की जरूरत पड़ जाती है. और, कुछ ऐसी ही दिलचस्प घटना सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ दुबई में खेले CSK के मुकाबले में भी देखने को मिली.
धोनी के इशारे पर अंपायर ने बदला फैसला!
घटना सनराइजर्स की पारी के 19वें ओवर की है. शार्दुल ठाकुर गेंदबाजी पर थे. पहली गेंद पर 2 रन देने के बाद उन्होंने ओवर की दूसरी बॉल वाइड की, जिसे शार्दुल ने फिर से डाला. इस बार गेंद फुल यॉर्कर थी जो ऑफ साइड के आखिरी छोर पर पड़ी. फील्ड अंपायर पॉल रिफेल इसे भी वाइड देने के लिए हाथ उठाने ही जा रहे थे पर शार्दुल उनसे उलझ पड़े. वो फैसले का विरोध कर रहे थे. देखते ही देखते धोनी भी इस मसले में कूद पड़े. धोनी ने विकेट के पीछे खड़े रहकर ही पॉल रिफेल को कुछ कहा, जिसके बाद अंपायर को अपना फैसला बदलने पर मजबूर होना पड़ा. ये देख डगआउट में बैठे SRH के कप्तान डेविड वॉर्नर झल्ला उठे और अपनी सीट से खड़े हो गए.
सोशल मीडिया पर CSK के खिलाफ लहर
रिप्ले में भी साफ दिखा कि वो गेंद ऑफ साइड के एकदम आखिरी छोर पर जाकर गिरी थी. खैर, धोनी ने तो अंपायर रिफेल को फैसला बदलने पर मजबूर कर दिया लेकिन इसके बाद सोशल मीडिया पर CSK को फिर से बैन करने की मांग तेज हो गई.
बता दें कि IPL 2020 में धोनी और उनकी टीम के लिए अब हर मुकाबला अहम है. ऐसा इसलिए क्योंकि पहले 7 मैचों में से वो सिर्फ 2 ही जीत सके थे. और दुबई में हैदराबाद को 20 रन से हराकर उन्होंने टूर्नामेंट में अपनी तीसरी जीत की स्क्रिप्ट लिखी. इस मुकाबले में जीत के लिए धोनी ने पहली बार IPL 2020 में टॉस जीतने के बाद बल्लेबाजी चुनी. इतना ही नहीं जीत की खातिर धोनी ने एक और दांव चलते हुए बैटिंग ऑर्डर में भी फेरबदल किया. उन्होंने शेन वॉटसन की जगह पर सैम करन को डुप्लेसी के साथ  ओपनिंग के लिए उतारा. धोनी के अचानक लिए ये फैसले कितने कारगर रहे इसका सबसे सटीक उदाहरण यही है कि चेन्नई ने मैच जीत लिया, जिसकी उन्हें सख्त जरूरत थी.
(IPL 2020 की सबसे खास कवरेज मिलेगी TV9 भारतवर्ष पर. देखिए हर रोज: ‘रेगिस्तान में महासंग्राम)

Related Posts