IPL 2020: दिल्ली के खिलाफ मैच में अंपायर के फैसले से खफा प्रीति जिंटा, BCCI से की ये मांग

सुपर ओवर में पंजाब की टीम सिर्फ दो रन ही बना सकी और दिल्ली ने आसानी से तीन रन बनाकर मैच को अपने नाम कर लिया. मगर इस मैच में अंपायर के एक फैसले ने विवाद खड़ा कर दिया है.

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 13वें सीजन में रविवार को दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) और किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के बीच खेला गया सीजन का दूसरा मैच रोमांच से भरपूर रहा. दिल्ली ने सुपर ओवर में जीत हासिल की. सुपर ओवर में पंजाब की टीम सिर्फ दो रन ही बना सकी और दिल्ली ने आसानी से तीन रन बनाकर मैच अपने नाम कर सीजन की शुरुआत जीत के साथ की. मगर इस मैच में अंपायर के एक फैसले ने विवाद खड़ा कर दिया है. मैदानी अंपायर नितिन मेनन की एक गलती फिलहाल सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई है और अब इसपर KXIP फ्रेंचाइजी की सह मालकिन प्रीति जिंटा (Preity Zinta) भी बोल उठी हैं.

प्रीति जिंटा ने ट्वीट कर कहा- ” मैंने महामारी के दौरान उत्साहपूर्वक यात्रा की, 6 दिन क्वारंटीन और 5 कोरोनावायरस टेस्ट मुस्कुराहट के साथ कराए, लेकिन एक शॉर्ट रन ने मुझे बहुत चोट पहुंचाया है. तकनीक होने का क्या मतलब है, जब इसका उपयोग ही नहीं किया जाए. यही समय है BCCI नए नियम लाए, यह हर साल नहीं हो सकता .”

अंपायर नितिन मेनन का फैसला 

दरअसल, दिल्ली की ओर से मिले 158 रन के लक्ष्य के जवाब में पंजाब की टीम जब मुश्किल हालात में थी, तब मयंक अग्रवाल एक शानदार पारी के जरिए अपनी टीम को लक्ष्य के करीब ले जा रहे थे. पंजाब को जीत के लिए 10 गेंदों में 21 रन की दरकार थी. कगिसो रबाडा की गेंद पर मयंक ने मिड ऑन की ओर गेंद को ड्राइव किया और तेजी से 2 रन के लिए दौड़ पड़े. मयंक और क्रिस जॉर्डन ने आसानी से 2 रन पूरे कर लिए.

 

मगर यहीं पर मैच का रुख बदल गया. जब जॉर्डन पहले रन के लिए स्ट्राइकर एंड पर पहुंचे, तो स्क्वायर लेग अंपायर नितिन मेनन ने इसे शॉर्ट रन करार दे दिया. इसके चलते पंजाब को 2 के बजाए सिर्फ एक ही रन मिला. वहीं, टीवी रिप्ले में साफ दिखा कि जॉर्डन ने क्रीज के पार बैट को रखा था.

(IPL 2020 की सबसे खास कवरेज मिलेगी TV9 भारतवर्ष पर. देखिए हर रोज: ‘रेगिस्तान में महासंग्राम’)

Related Posts