IPL 2020: धवन ने बायो बबल को बताया ‘बिग बॉस’ जैसा, कहा- मानसिक क्षमता का होगा इम्तेहान

IPL 2020 के बायो-बबल में खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ को सिर्फ स्टेडियम में ट्रेनिंग/मैच के लिए आने-जाने और अपने होटल में ही घूमने-फिरने की इजाजत है. इसके बाहर निकलना बायो-बबल का उल्लंघन माना जाएगा और खिलाड़ी पर कार्रवाई होगी.

IPL 2020 Shikhar Dhawan Bio-Bubble, IPL 2020: धवन ने बायो बबल को बताया ‘बिग बॉस’ जैसा, कहा- मानसिक क्षमता का होगा इम्तेहान

क्रिकेट मैच के दौरान खिलाड़ियों को न सिर्फ अपने टैलेंट और स्किल्स का टेस्ट देना पड़ता है, बल्कि इस दौरान मानसिक स्तर पर उनकी मजबूती की भी परीक्षा होती है. किसी खिलाड़ी की सफलता उसकी कड़ी मेहनत के साथ ही मानसिक मजबूती पर भी निर्भर करती है. कोरोनावायरस के मौजूदा दौर में खिलाड़ियों के सामने यही चुनौती है क्योंकि उन्हें एक सुरक्षित बायो-बबल में रहना पड़ रहा है, जिससे बाहर जाने की इजाजत उन्हें नहीं है. यही स्थिति संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में होने जा रहे IPL 2020 सीजन में भी है और इसलिए दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के दिग्गज बल्लेबाज शिखर धवन (Shikhar Dhawan) ने इसे रिएलिटी टीवी शो ‘बिग बॉस’ (Big Boss) जैसा बताया है.

शिखर धवन मैदान में और मैदान के बाहर अपने शांत और मस्तीभरे अंदाज के लिए जाने जाते हैं. कोरोनावायरस लॉकडाउन के दौरान लंबे समय तक घर में रहने के बाद अब एक बार फिर बाकी क्रिकेटरों की तरह धवन भी फिर मैदान में लौट आए हैं. हालांकि, अभी-भी क्रिकेटरों को कुछ बंदिशों का पालन करना पड़ रहा है, ताकि IPL जैसा बड़ा टूर्नामेंट सफल हो.

मानसिक क्षमता परखने का अच्छा मौकाः धवन

अंग्रेजी अखबार ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ को दिए एक इंटरव्यू में धवन ने माना कि मौजूदा स्थिति काफी चुनौतीपूर्ण है, लेकिन वह इसे लेकर काफी सकारात्मक हैं. धवन ने कहा, “यह हम सबके लिए बिल्कुल नया है. यह चुनौतीपूर्ण है लेकिन इससे ज्यादा मैं इसे एक ऐसे अवसर के तौर पर देख रहा हूं जिसमें हम हर पहलू में सुधार कर सकते हैं. मैं खुद को खुश रखता हूं और इसे सकारात्मक तौर पर लेता हूं.”

धवन ने साथ ही कहा कि यह हमारी मानसिक मजबूती को जांचने के लिए अच्छा है और काफी हद तक बिग बॉस जैसा है. बिग बॉस एक ऐसा टीवी रिएलिटी शो है, जिसमें कुछ प्रतिभागी कई हफ्तों तक एक ही घर में एक दूसरे के साथ रहते हैं और इस दौरान उनका बाहरी दुनिया से कोई संपर्क नहीं होता.

टीम इंडिया के ‘गब्बर’ ने कहा कि इस माहौल में खिलाड़ियों का खुद पर भरोसा होना बेहद जरूरी है और हर किसी को खुद का ‘बेस्ट फ्रेंड’ होना चाहिए.  धवन ने कहा, “यह पूरी तरह से इस पर निर्भर करता है कि कोई भी शख्स खुद से कैसे बात करता है. आप अपने बेस्ट फ्रेंड हो सकते हो या आप पीड़ित हो सकते हो. आपके आस-पास 10 लोग सकारात्मक सोच के हो सकते हैं, लेकिन अगर आप अपने ही दोस्त नहीं हैं, तो कोई मदद नहीं कर सकता.”

‘बायो-बबल का दिखेगा खिलाड़ियों पर असर’

IPL 2020 के बायो-बबल में खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ को सिर्फ स्टेडियम में ट्रेनिंग/मैच के लिए आने-जाने और अपने होटल में ही घूमने-फिरने की इजाजत है. इसके बाहर निकलना बायो-बबल का उल्लंघन माना जाएगा और खिलाड़ी पर कार्रवाई होगी. धवन ने माना कि इस स्थिति का इस आईपीएल में काफी असर दिखेगा.

दिल्ली कैपिटल्स के स्टार धवन के मुताबिक, अगर कोई खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन नहीं करता है तो वह कैसे इससे निपटेगा क्योंकि खुद को तरोताजा करने के लिए सामान्य स्थिति की तरह कोई भी होटल से बाहर नहीं जा सकता.

धवन आखिरी बार जनवरी में क्रिकेट मैदान पर दिखे थे. उस दौरान ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान उन्हें चोट लग गई थी और उसके बाद से उन्होंने कोई मैच नहीं खेला है. वह 20 सितंबर को IPL 2020 में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ दिल्ली कैपिटल्स के पहले से मैच से वापसी करेंगे.

 

(IPL 2020 की सबसे खास कवरेज मिलेगी TV9 भारतवर्ष पर. देखिए हर रोजः ‘रेगिस्तान में महासंग्राम’)

Related Posts