धोनी की IPL टीम में सलमान खान का फैन क्या कर रहा है?

किसी का फैन होना बुरी बात नहीं. लेकिन फिल्मी हीरो का फैन बताने वालों को IPL की टीम में जगह मिले, ये समझ से परे हैं.

टीम क्रिकेट की, खेल IPL का, तो फिर इस क्रिकेट तमाशे में बॉलीवुड के हीरो सलमान खान के फैन का क्या काम है. CSK के कप्तान धोनी ने क्यों उसे अपनी टीम में जगह दे रखी है. फैसला समझ से परे है. दरअसल, हम यहां बात कर रहे हैं केदार जाधव की, जो खुद को सलमान खान का बहुत बड़ा फैन बताते हैं. वो बचपन से ही सलमान की फिल्मों और उनके एक्शन के दीवाने हैं.

यहां तक कि गाहे-बेगाह वो सलमान खान के गानों पर थिरकते भी दिख जाते हैं.

हालांकि,  जितने केदार सलमान खान के दीवाने लगते हैं उतने ही क्रिकेट से बेगाने दिखते हैं. और, अब आलम ये है कि वो CSK के कप्तान धोनी के लिए गले की हड्डी बन चुके हैं. बावजूद इसके धोनी हैं कि उन्हें खिलाने से बाज नहीं आ रहे. वो भी तब जब वो न तो टीम के लिए बैटिंग कर पा रहे हैं, न ही बॉलिंग. और तो और जनाब का फील्डिंग में भी हाल बुरा है.

केदार का कोई रोल नहीं तो टीम में क्यों ?

लगातार हार के बाद जब सवाल सुलगे तो धोनी ने केदार जाधव को एक मुकाबले के लिए बाहर कर दिया. लेकिन फिर अगले ही मैच में पीयूष चावला की जगह उन्हें प्लेइंग इलेवन में शामिल कर लिया. सवाल है कि किसलिए जब वो टीम के काम ही नहीं आ सकते. जब धोनी को  खुद उन पर पक्का भरोसा ही नहीं है. क्योंकि अगर भरोसा होता तो दिल्ली के खिलाफ ब्रावो को इंजरी होने के बाद वो आखिरी ओवर के लिए उनके पास जरूर जाते. न कि दो लेफ्ट हैंडर के बीच जडेजा को पीसने के लिए बुलाते. इसी मैच में अगर चावला खेलते तो बतौर लेग स्पिनर टीम को शायद कुछ फायदा भी होता और फिर जितनी बल्लेबाजी केदार कर रहे हैं कम से कम उससे तो बेहतर ही पीयूष चावला करते. साफ है कि केदार को लेकर धोनी की फेवरेटिज्म नीति टीम को महंगी पड़ रही है.

IPL 2020 में केदार का ‘बेकार’ खेल

बता दें कि IPL 2020 में खेली 4 पारियों में केदार के बल्ले से सिर्फ 58 रन आए हैं, वो भी 19.33 की बेहद घटिया औसत से. बतौर बल्लेबाज CSK की बैटिंग लाइनअप में उनका औसत सबसे खराब है.

(IPL 2020 की सबसे खास कवरेज मिलेगी TV9 भारतवर्ष पर. देखिए हर रोज: ‘रेगिस्तान में महासंग्राम)

Related Posts