झारखंड चुनाव: बीजेपी ने जारी की कैंडिडेट की चौथी लिस्ट, पूर्व IPS रामेश्वर उरांव को मिला टिकट

अभी तक राज्य में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के मद्देनजर विभिन्न राजनीतिक दलों से छह पूर्व नौकरशाहों को टिकट मिले हैं.

झारखंड में 30 नवंबर से शुरू हो रहे विधानसभा चुनाव के लिए करीब आधा दर्जन पूर्व नौकरशाह मैदान में हैं. पांच चरणों में होने वाले चुनाव की मतगणना 23 दिसंबर को होगी. इस बीच भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने शनिवार को अपने उम्मीदवारों की पांचवीं सूची जारी की.

पार्टी ने तीन निर्वाचन क्षेत्रों -जुगसलाई (एससी), जगन्नाथपुर (एसटी) और तमार (एसटी) से उम्मीदवारों के नाम जारी किए हैं. बीजेपी ने अब तक 71 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है. पार्टी की ऑल झारखंड स्टूडेंट यूनियन (एजेएसयू) से बातचीत जारी है, जिसके चलते अभी 10 अन्य सीटों पर उम्मीदवारों के नामों की घोषणा नहीं की गई है.

अभी तक राज्य में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के मद्देनजर विभिन्न राजनीतिक दलों से छह पूर्व नौकरशाहों को टिकट मिले हैं. राज्य पार्टी के अध्यक्ष और कांग्रेस के उम्मीदवार रामेश्वर उरांव एक पूर्व आईपीएस अधिकारी हैं और पार्टी द्वारा लोहरदगा विधानसभा सीट से उम्मीदवार हैं.

वह अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक थे और 2004 में कांग्रेस के टिकट पर लोहरदगा से लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली थी. उन्होंने चुनाव जीता और केन्द्रीय मंत्री बने. वह यूपीए सरकार के दौरान अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष भी रहे.

उरांव को पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और अब बीजेपी नेता सुखदेव भगत के खिलाफ खड़ा किया गया है. इस्तीफा देने के बाद राजनीति में शामिल हुए भगत डिप्टी कलेक्टर थे. ऐसी चर्चाएं थीं कि उन्होंने रामेश्वर उरांव के कारण कांग्रेस छोड़ी.

उन्होंने आरोप लगाया था कि उरांव के कारण वह 2019 का लोकसभा चुनाव हार गए थे, और उरांव ने उनकी हार में प्रमुख भूमिका निभाई थी. (इनपुट आईएएनएस)

ये भी पढ़ें-

शादी के बंधन में बधेंगे कांग्रेस के दो विधायक, पंजाब के MLA अंगद सैनी से शादी करेंगी अदिति सिंह

पहले विकास का ‘वाड्रा मॉडल’ था, अब ‘फैमिली मॉडल’, नेशनल हेराल्ड मुद्दे पर रविशंकर प्रसाद का तंज