झारखंड चुनाव 2019 : क्या हुआ जब मिले पुराने साथी सीएम रघुवर दास और सरयू राय ?

लालभाटा और बाबूडीह इलाके में चुनाव प्रचार के दौरान दोनों आमने-सामने हो गए. सरयू राय अपने समर्थकों के साथ पहुंचे तब दास वहां पदयात्रा कर रहे थे. दोनों के समर्थक असहज होते दिखे.

जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा में बीजेपी उम्मीदवार मुख्यमंत्री रघुवर दास और उनके ही मंत्रिमंडल के पुराने साथी सरयू राय के बीच खींची तलवारों को पार्टी कार्यकर्ता अभी तक नहीं पचा पा रहे हैं. लालभाटा और बाबूडीह इलाके में चुनाव प्रचार के दौरान दोनों आमने-सामने हो गए. सरयू राय अपने समर्थकों के साथ पहुंचे तब दास वहां पदयात्रा कर रहे थे. दोनों के समर्थक असहज होते दिखे.

झारखंड विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोरने वाले क्षेत्र जमशेदपुर पूर्वी में इसके बाद बीजेपी के मौजूदा और पूर्व कार्यकर्ताओं का दर्द छलका. सीएम रघुवर दास की पदयात्रा के बाद कई कार्यकर्ताओं ने कहा कि सरयू राय से हमारी आपसी लड़ाई राजनीतिक विडंबना है. दूसरी ओर सरयू राय के साथ जुटे पुराने बीजेपी नेता और कार्यकर्ताओं ने दास को लेकर अपना गुस्सा जाहिर किया.

अगले तीन दिन में वोटिंग की ओर बढ़ती इस्पात नगरी के इस क्षेत्र में सोमवार को रघुवर दास ने लालभाटा में बिरसा मुंडा को श्रद्धांजलि देने के बाद खुली एसयूवी में सीताराम डेरा तक लगभग चार किलोमीटर का रोड शो किया. इसके बाद उन्होंने काशीडीह और रामबागान के रिफ्यूजी कॉलोनी में पदयात्रा की. वहीं सरयू राय अपने समर्थकों के साथ छायानगर, भूईंयाडीह, लालभाटा, बाबूडीह, सीतारामडेरा और जमशेदपुर बार एशोसिएशन जैसी जगहों पर प्रचार के लिए पहुंचे.

दास की पदयात्रा में समर्थकों की कम भीड़ पर निशाना साधते हुए राय के समर्थकों ने दावा किया कि इलाके में बड़ी संख्या में झुग्गियां हैं और वहां बीजेपी और उसके विरोधी दोनों ही वोटर अब हमारे साथ हैं. वहीं दास के समर्थकों ने फिर से जीत का दावा दोहराया है. विधानसभा चुनाव में बीजेपी उम्मीदवारों के खिलाफ अपनी ही पार्टी के लोगों की ओर से चुनाव लड़ने और सार्वजनिक विरोध करने वालों की गिनती बहुत बढ़ी है.

इसके बाद सोमवार को ही बीजेपी की ओर से सरयू राय समेत तमाम ऐसे नेताओं को पार्टी से निकाले जाने की खबर आई जो पार्टी उम्मीदवारों के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरे हैं. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने इस बारे में निर्देश जारी किया था. मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ जमशेदपुर पूर्वी से चुनाव लड़ रहे सरयू राय ने विधानसभा की सदस्यता और मंत्री पद से तो अपना इस्तीफा दे दिया, लेकिन पार्टी की प्रथमिक सदस्यता को अबतक नहीं छोड़ा है.

ये भी पढ़ें –

Jharkhand Election 2019: भाजपा को लगा झटका, बीच चुनाव में इस बड़े नेता ने छोड़ी पार्टी

झारखंड चुनाव: कांग्रेस प्रत्याशी ने वोटर पर तानी पिस्टल, दी जान से मारने की धमकी, देखें वीडियो