‘चोरी के शक में भीड़ ने पीटा, फिर लगवाए जय श्री राम के नारे, जेल में मर गया तबरेज’

भीड़ द्वारा तबरेज को बेरहमी से पीटे जाने के बाद 18 जून को पुलिस को सौंप दिया गया, जिसके बाद से वह पुलिस की हिरासत में था.
लिंचिंग, ‘चोरी के शक में भीड़ ने पीटा, फिर लगवाए जय श्री राम के नारे, जेल में मर गया तबरेज’

रांची: झारखंड के खरसावां जिले में भीड़ ने एक मुस्लिम लड़के को चोरी के शक में इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई. मॉब लिंचिंग की ये घटना 18 जून की है और मारे गए मुस्लिम युवक की पहचान 24 वर्षीय तबरेज अंसारी के रूप में हुई है. भीड़ ने तबरेज को बेरहमी से पीटने के बाद उसे पुलिस को सौंप दिया. जिसके बाद तबरेज ने 22 जून को एक स्थानीय अस्पताल में दम तोड़ दिया.

पुलिस के मुताबिक, तबरेज की मौत की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई है. एसपी कार्तिक एस ने कहा कि मामले में पप्‍पू मंडल नाम के एक शख्‍स को गिरफ्तार कर लिया गया है.

घटना के बाद से झारखंड की इस मॉब लिंचिग के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. एक वीडियो में, एक आदमी तबरेज अंसारी को एक छड़ी से मारते हुए दिखाई दे रहा है. वहीं तबरेज उससे लगातार बक्श देने के लिए भीख मांग रहा है. एक अन्य वीडियो में तबरेज को “जय श्री राम” और “जय हनुमान” ने नारे लगाने के लिए भी मजबूर किया जा रहा.

न्यूज रिपोर्ट्स के मुताबिक भीड़ द्वारा तबरेज को बेरहमी से पीटे जाने के बाद 18 जून को पुलिस को सौंप दिया गया, जिसके बाद से वह पुलिस की हिरासत में था. रिपोर्ट्स की माने तो 22 जून को उसकी हालत खराब होने के बाद उसे अस्पताल ले जाया गया.

पुलिस ने एक आरोपी जिसकी पहचान पप्पू मंडल के रूप में हुई है को तबरेज की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है. तबरेज अंसारी पुणे में वेल्डिंग का काम करता था. जो कि ईद के मौके पर झारखंड स्थित खरसावां में अपने गांव आया था.

भीड़ ने ‘जय श्री राम’ और ‘जय हनुमान’ कहने के लिए किया मजबूर

18 जून की रात वह अपने गांव से दो लोगों के साथ जमशेदपुर के लिए निकला. तबरेज के चाचा के मुताबिक धतकिड़ी गांव वालों को सूचना मिली कि गांव में चोरी हुई है. जिसके बाद उन्होंने तबरेज को पकड़ लिया. तबरेज के साथ जो दो लोग थे वो भाग निकले. जबकी भीड़ ने उसे बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया. वीडियो में दिखाई दे रहा है कि तबरेज उस पर लगाए गए तमाम आरोपों से लगातार इनकार कर रहा है.

वीडियो में तबरेज कह रहा है कि उसने कुछ नहीं किया. उसने कहा, ‘मुझे कुछ नहीं पता.’ वीडियो के आखिर में एक शख्स तबरेज से ‘जय श्री राम’ और ‘जय हनुमान’ के नारे लगाने के लिए कहते हुए देखा जा सकता है. झारखंड में हुई इस लिंचिंग के लिए पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है और जांच जारी है.

तबरेज के चाचा के मुताबिक भीड़ ने उसे बेरहमी से मारा है. साथ ही उन्होंने मांग की है कि पुलिस अधिकारी, जेल के डॉक्टर और धतकिड़ी गांव के उन सभी लोग जिन्होंने तबरेज की मॉब लिंचिंग की है उन्हें पकड़ा जाए और सख्त से सख्त सजा दी जाए.

ये भी पढ़ें: एनकाउंटर मैन IPS अजयपाल शर्मा ने रेप और हत्या के आरोपी को मारी गोली, सोशल मीडिया में छाए

Related Posts