हजारीबाग में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति टूटी, लोगों में आक्रोश

स्थानीय लोगों का कहना है कि 8 फरवरी की शाम को बापू की प्रतिमा को खंडित किया गया है. यह प्रतिमा 2 फरवरी, 1948 को बापू के सामरक के रूप में स्थापित की गई थी. मनोज वर्मा, अध्यक्ष गांधी स्मारक समिति ने इसकी लिखित शिकायत दर्ज करा दी है
Mahatma Gandhi's statue found damaged, हजारीबाग में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति टूटी, लोगों में आक्रोश

झारखंड के हजारीबाग में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति खंडित पाई गई. इस मूर्ति को एक गोल गुंबद पर बनाया गया था. इसकी सुरक्षा के लिए चारों ओर फेंसिंग की गई थी. रविवार सुबह महात्मा गांधी की मूर्ति को टूटा हुआ पाया. लोगों ने स्थानीय पुलिस को जानकारी दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच की और कहा कि अभी ये कहना मुश्किल है मूर्ति को किसने तोड़ी है.

पुलिस ने कहा कि ये भी हो सकता है कि मूर्ति खुद गिर गई हो. पुलिस ने कहा कि इस मामले की जांच चल रही है. अभी ये कहना मुश्किल है कि मूर्ति को तोड़ा गया है कि मूर्ति खुद गिर गई है. पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी को खंगाल रही है और स्थानीय लोगों से पूछताछ कर रही है.

स्थानीय लोगों का कहना है कि 8 फरवरी की शाम को बापू की प्रतिमा को खंडित किया गया है. यह प्रतिमा 2 फरवरी, 1948 को बापू के सामरक के रूप में स्थापित की गई थी. मनोज वर्मा, अध्यक्ष गांधी स्मारक समिति ने इसकी लिखित शिकायत दर्ज करा दी है. स्थानीय लोगों की मांग है कि प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने वाले के खिलाफ कार्रवाई हो.

नीरज कुमार सिंह, सदर थाना प्रभारी ने कहा कि स्मारक समिति के पदाधिकारियों ने मामला दर्ज करने के लिए आवेदन दिया है. वहीं, गांधी स्मारक समिति के लोगों ने आरोप लगाया है कि थाने की ओर से क्षतिग्रस्त प्रतिमा की जांच के लिए पैंथर की टीम को भेजा गया था. इसके बावजूज अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है.

 

ये भी पढ़ें-

करतारपुर : अब बिना पासपोर्ट गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन कर सकेंगें भारतीय श्रद्धालु!

नदी में फंसे आदमी की मदद के लिए ओरंगुटान ने बढ़ाया हाथ, फोटो वायरल

Related Posts