IND vs SA: अपने शहर रांची में टेस्‍ट मैच है, देखने आएंगे महेंद्र सिंह धोनी

पिछली बार जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट मैच हुआ था, तब महेंद्र सिंह धोनी आखिरी दिन मैदान में नजर आए थे.

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच 19 अक्टूबर से रांची में शुरू होने वाले तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में महेंद्र सिंह धोनी भी नजर आएंगे. यह मैदान भारत के पूर्व कप्तान धोनी का घरेलू मैदान है. टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके धोनी मौजूदा समय में भारतीय वनडे टीम से बाहर हैं और उन्होंने विश्वकप के बाद से अभी तक किसी भी मैच में हिस्सा नहीं लिया है.

जेएससीए ने मैच के लिए किया आमंत्रित

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार झारखंड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन (JSCA) ने उन्हें मैच में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया था जिसके जवाब में धोनी ने भी सहमति जताई थी.धोनी की लोकप्रियता को देखते हुए मैदान में उनकी मौजूदगी कई क्रिकेट फैंस को खींच ले आएगी. हालांकि JSCA ने अभी इसकी पुष्टि नहीं की है.

धोनी की मैदान में मौजूदगी को लेकर अभी यह तय नहीं है कि वो किस दिन मैच देखने स्टेडियम में आएंगे. पिछली बार जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट मैच हुआ था, तब वो मैच के अंतिम दिन मैदान में दिखे थे.

टीम में धोनी के भविष्य को लेकर उठ रहे सवाल

धोनी वेस्टइंडीज, साउथ अफ्रीका के खिलाफ नहीं खेलने के बाद अब वह अगले महीने से बांग्लादेश के खिलाफ होने वाली टी-20 सीरीज में भी खेलते हुए नहीं दिखेंगे. बांग्लादेश के खिलाफ होने वाली सीरीज के लिए टीम का ऐलान 24 अक्टूबर को होना है.

मालूम हो कि धोनी ने अभी संन्यास का ऐलान नहीं किया है और सिलेक्‍टर्स साफ कर चुके हैं कि वह अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप को ध्यान में रखते हुए टीम बनाने की कोशिश में हैं. ऐसे में धोनी के भविष्य को लेकर सवाल उठ रहे हैं.

क्लीन स्वीप करने उतरेगा भारत

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच 19 अक्टूबर से रांची के जेएससीए अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में खेले जाने वाला यह मैच सीरीज का तीसरा और आखिरी मुकाबला होगा. भारत ने अफ्रीका को विशाखापत्तनम और पुणे में पहले दो टेस्ट मैचों में हराकर 2-0 की बढ़त के साथ सीरीज अपने नाम कर ली है. तीसरे टेस्ट में भारतीय टीम की नजरें 3-0 से क्लीन स्वीप करने पर होंगी. जेएससीए अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में यह दूसरा टेस्ट मैच होगा. इस मैदान पर पहला टेस्ट भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मार्च 2017 में खेला गया था.

ये भी पढ़ें

वीरेंद्र सहवाग ने अनिल कुंबले से मांगी माफी, जानें क्या है वजह

क्यों नामुमकिन दिख रही है पाकिस्तान में एशिया कप क्रिकेट की मेजबानी?