समझें क्या है फोनी का मतलब? रफ्तार से लेकर तूफानों के नाम रखने तक की Detailed Report

तूफान फोनी हिंदुस्तान के तटीय इलाकों पर दस्तक दे रहा है. मौसम विभाग ने चेतावनी जारी कर दी है. आइए जानते हैं कि तूफानों का नाम दुनिया भर में कैसे रखा जाता है.

फोनी तूफान अब सिर्फ सैटेलाइट तस्वीरों में ही नहीं दिख रहा, बल्कि उसका असर ओडीशा के तटीय इलाकों में भी महसूस किया जाने लगा है. आशंका है कि जब वो ज़मीन से गुज़रेगा तो उसकी रफ्तार दो सौ किलोमीटर से भी तेज़ होगी. जानमाल की सुरक्षा के लिए एजेंसियां जुट गई हैं. लोग सुरक्षित स्थानों पर पहुंच गए हैं. आप भी कभी सोचते होंगे कि तूफानों का नाम कैसे रखा जाता है.

किन तूफानों का रखा जाता है नाम
असल में रिकॉर्ड आसानी से रखा जा सके इसलिए तूफानों का नाम रखा जाने लगा. छोटे-मोटे तूफानों का तो नहीं लेकिन 1953 से बड़े तूफानों का नाम रखा जाने लगा है. विश्व मौसम विज्ञान संगठन ने इसकी शुरूआत की.

भारत में ये चलन 2004 से शुरू किया गया. तय हुआ कि 63 किलोमीटर प्रति घंटे से कम की रफ्तार वाले तूफान का नाम नहीं रखा जाएगा. 118 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाले तूफानों को बेहद गंभीर की श्रेणी में रखा गया. 221 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के तूफान को सुपर चक्रवाती तूफान की कैटेगरी में रखा गया.

कैसे रखा जाता है नाम
भारत के साथ पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, म्यांमार, मालदीव, ओमान और थाइलैंड के सुझाए गए नामों के हिसाब से ही तूफान का नामकरण किया जाने लगा. वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल ऑर्गेनाइज़ेशन को इन सभी देशों ने मिलकर नाम दिए हैं जिनमें भारत ने सागर और आकाश जैसे नाम सुझाए तो पाकिस्तान ने बुलबुल और नीलोफर जैसे नाम दिए.

इन देशों के आसपास जितने तूफान आएँगे उनका नाम इन्हीं देशों के सुझाए नामों में से रखा जाएगा. ये भी तथ्य गौर करने लायक है कि एक नाम दस सालों में दोबारा इस्तेमाल नहीं होता. बहुत ज़्यादा तबाही मचानेवाले तूफान का नाम फिर नहीं रखा जाता.

अमेरिका में तूफानों का आना लगा रहता है. वो हर साल 21 नाम तय करता है. ये नाम अंग्रेज़ी के एल्फाबेट के हिसाब से रखे जाते हैं. Q,U,X,Y,Z से नाम नहीं रखे जाते.  अगर 21 से ज्यादा तूफान आए तो ग्रीक अल्फाबेट्स अल्फा, बीटा, गामा का सहारा लिया जाता है. ऑड सालों (2019, 20121, 2023) में तूफान का नाम औरतों के नाम पर रखा जाता है, ईवन सालों (2020, 2022, 2024) में पुरुषों के नाम पर रखा जाने का नियम है.  पहले अमेरिका में सिर्फ महिलाओं के नाम पर तूफान का नाम रखने का चलन था लेकिन महिलाओं से जुड़े संगठनों के विरोध के बाद 1978 से पुरुषों के नाम भी शामिल किए जाने लगे.

फोनी का क्या होता है मतलब?
उत्तर हिंद महासागर से उठ रहे ताज़ा तूफान का नाम फोनी बताया जा रहा है. जिस क्षेत्र में तूफान का खतरा पैदा होता है वहीं का मौसम विभाग इसका नाम रखता है. इस बार बांग्लादेश ने नाम रखा. फोनी का मतलब सांप होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *