CAA Protest: अमेरिका का बड़ा बयान, कहा, ‘लोकतांत्रिक मुद्दों पर भारत से करनी होगी बात’

भारत और अमेरिका के बीच 2 + 2 मंत्री स्तरीय बातचीत चल रही है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री जयशंकर इस समय अमेरिका में हैं.

  • TV9.com
  • Publish Date - 11:09 am, Fri, 20 December 19

नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) पर जहां एक तरफ देश के कई हिस्सों में हिंसक विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं , तो वहीं दूसरी तरफ अमेरिका की तरफ से इस पर बड़ा बयान आया है.

अमेरिकी स्टेट डिपार्टमेंट के वरिष्ठ अधिकारी ने भारत में नागरिकता कानून (Citizenship Act) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सीटिजन (NRC) के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन पर कहा, “हम सक्रिय राजनीतिक बहस देख रहे हैं, संसद में हो रही चर्चा को भी देख रहे हैं, लोगों के विरोध प्रदर्शन पर भी हमारी नजर है, हम जानते हैं कि एनआरसी को लेकर न्यायिक प्रक्रिया चल रही है.”

अमेरिका ने यह भी कहा कि हम भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों और लोकतांत्रिक संस्थाओं का सम्मान करते हैं. साथ ही भारत से इन तथ्यों पर भी बात करनी होगी कि लोकतंत्र के रूप में, अल्पसंख्यक अधिकारों, धार्मिक स्वतंत्रता और मानवाधिकार जैसे मुद्दे लोकतांत्रिक समाजों के महत्वपूर्ण स्तंभ हैं.

बता दें भारत और अमेरिका के बीच 2 + 2 मंत्री स्तरीय बातचीत चल रही है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस. जयशंकर इस समय अमेरिका में हैं. इस दौरान विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने अमेरिकी कांग्रेस की प्रमिला जयपाल की जम्मू-कश्मीर की रिपोर्ट पर उनके साथ होने वाली मीटिंग को कैंसिल करने पर कहा कि यह मत सोचिए कि उनकी रिपोर्ट में जम्मू-कश्मीर की स्थिति की निष्पक्ष समझ है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मुझे उनसे मिलने में कोई दिलचस्पी नहीं है.

एक दिन पहले ही एक शीर्ष अमेरिकी राजनयिक ने कहा था कि नागरिकता और धार्मिक स्‍वतंत्रता जैसे मुद्दों पर भारत के अंदर एक मजबूत बहस चल रही है. अमेरिका के इस जवाब से भारत का पड़ोसी मुल्‍क पाकिस्‍तान जरूर मायूस हुआ होगा. पाकिस्‍तान, भारत पर लगातार एक समुदाय विशेष के उत्‍पीड़न का आरोप लगाता रहा है.

ये भी पढ़ें: CAA को लेकर सुपरस्टार रजनीकांत ने ऐसा क्या कहा कि ट्विटर पर करने लगे ट्रेंड ?