सचिन तेंदुलकर के जेम्स एंडरसन को लेकर खुलासे से चौंक जाएंगे बड़े-बड़े दिग्गज क्रिकेटर

सचिन तेंदुलकर जेम्स एंडरसन के खिलाफ लंबे समय तक खेले हैं. इन दोनों खिलाडियों के बीच 14 बार मुकाबला हुआ है. इसमें से जेम्स एंडरसन ने सचिन तेंदुलकर को 9 बार आउट किया है. जेम्स एंडरसन अपनी कलाईयों की ‘पोजीशन’ से बल्लेबाजों को बहुत परेशान करते हैं.
Sachin Tendulkar on James Anderson, सचिन तेंदुलकर के जेम्स एंडरसन को लेकर खुलासे से चौंक जाएंगे बड़े-बड़े दिग्गज क्रिकेटर

दुनिया के महानतम बल्लेबाजों में शुमार सचिन तेंदुलकर ने इंग्लिश गेंदबाज जेम्स एंडरसन को लेकर एक चौंकाने वाली बात कही है. सचिन ने कहा कि जेम्स एंडरसन रिवर्स स्विंग के साथ-साथ रिवर्स-रिवर्स स्विंग कराते हैं. आपको बता दें कि आम तौर पर तेज गेंदबाज तीन तरह से गेंद को स्विंग कराते हैं. कन्वेंशनल स्विंग, कॉन्ट्रैस्ट स्विंग और रिवर्स स्विंग, लेकिन जेम्स एंडरसन एक चौथे तरीके का इजाद कर सकते हैं. वो है रिवर्स-रिवर्स स्विंग.

सचिन तेंदुलकर जेम्स एंडरसन के खिलाफ लंबे समय तक खेले हैं. इन दोनों खिलाडियों के बीच 14 बार मुकाबला हुआ है. इसमें से जेम्स एंडरसन ने सचिन तेंदुलकर को 9 बार आउट किया है. जेम्स एंडरसन अपनी कलाईयों की ‘पोजीशन’ से बल्लेबाजों को बहुत परेशान करते हैं.

सचिन तेंदुलकर ने ट्वीट कर कही अपनी बात

सचिन तेंदुलकर ने हाल ही में एक ट्वीट करके लिखा कि जेम्स एंडरसन के खिलाफ बल्लेबाजी करते हुए मैंने नोटिस किया कि वो रिवर्स स्विंग रिवर्स कराते हैं. वो स्विंग गेंदबाजी की इस कला के बेहतरीन कलाकार हैं. ये देखना दिलचस्प होगा कि जब गेंद रिवर्स स्विंग करना शुरू कर देगी तो वो किस तरह गेंदबाजी करते हैं. इंग्लैंड की टीम इस समय वेस्टइंडीज के खिलाफ साउथैम्पटन टेस्ट मैच खेल रही है. कन्वेंशनल स्विंग गेंद उस तरफ स्विंग करती हैं जिधर गेंद ‘रफ’ हो चुकी होती है. जबकि रिवर्स स्विंग उस तरफ स्विंग करती है जिधर गेंद में चमक होती है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

सचिन तेंदुलकर ने ब्रायन लारा के साथ बातचीत में बताया कि उन्होंने नोटिस किया है कि जेम्स एंडरसन कन्वेंशनल इनस्विंगर के लिए पकड़ी गई गेंद को कलाई से रिवर्स आउटस्विंगर कराते हैं. सचिन ने कहा कि- “जेम्स एंडरसन संभवत: पहले ऐसे गेंदबाज हैं जो रिवर्स स्विंग को भी रिवर्स कराते हैं.” सचिन के मुताबिक कई बार उन्होंने महसूस किया कि जेम्स एंडरसन गेंद को पकड़ते वक्त और रिलीज करने के बीच में बदलाव करते हैं. जो बल्लेबाजों की समझ में नहीं आता.

इससे होता ये है कि बल्लेबाज एक इनस्विंगर गेंद को खेलने के लिए ‘कमिट’ हो जाता है, लेकिन गेंद जब पिच का काफी हिस्सा तय कर चुकी होती है तो बल्लेबाज से दूर जाने लगती है. लेकिन तब आप गेंद को खेलने के लिए ‘कमिट’ कर चुके होते हैं. ये मेरे लिए बिल्कुल नए किस्म का अनुभन था. मैंने किसी गेंदबाज को ऐसा कराते नहीं देखा.

भारत में शानदार रहा है एंडरसन का प्रदर्शन

जेम्स एंडरसन के भारत में बेस्ट स्पेल में से एक कोलकाता टेस्ट में था. 2012 में उन्होंने कोलकाता टेस्ट की दोनों पारियों में तीन-तीन विकेट लेकर इंग्लैंड को जीत दिलाई थी. उस जीत से इंग्लैंड को सीरीज में 2-1 की बढ़त मिल गई थी. उसी मैच में एंडरसन ने तेंदुलकर को 76 रनों के स्कोर पर विकेट के पीछे लपकवाया था.

हालांकि ये अभी तक साफ नहीं है कि वो गेंद रिवर्स आउटस्विंगर थी या रिवर्स रिवर्स आउटस्विंगर. हाल ही में इंग्लैंड के स्पिनर मॉन्टी पनेसर ने भी जेम्स एंडरसन की तारीफ करते हुए कहा था कि एंडरसन ICC के नए नियमों के मद्देनजर ऐसे पहले गेंदबाज होंगे जो गेंद को बिना ‘सलाइवा’ के स्विंग कराएंगे.

Related Posts