राजस्‍थान आने वालों के लिए 14 दिन का होम क्‍वारंटीन खत्‍म, श्रद्धालुओं की कम संख्‍या वाले मंदिर खुलेंगे

CM अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में केवल उन्हीं धार्मिक स्थानों (Religious Places) को खोलने की अनुमति होगी जहां सामान्य दिनों में हर रोज 50 या इससे कम लोग आते हैं.
Small temples will open in Rajasthan, राजस्‍थान आने वालों के लिए 14 दिन का होम क्‍वारंटीन खत्‍म, श्रद्धालुओं की कम संख्‍या वाले मंदिर खुलेंगे

राजस्थान (Rajasthan) के ग्रामीण क्षेत्रों में श्रद्धालुओं की सीमित संख्या वाले धार्मिक स्थान 1 जुलाई से फिर से खुलेंगे, जबकि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े धार्मिक स्थल कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus) की वजह से बंद रहेंगे. राज्य सरकार ने अन्य राज्यों से राजस्थान आने वालों के लिए 14 दिनों के होम क्वारंटीन (Quarantine) की अनिवार्यता को भी हटा दिया है. हालांकि उन्हें सभी नियमों का पालन करना होगा और कोरोना के लक्षण नजर आने पर जांच करानी होगी.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

सीमित संख्या में लोग कर सकेंगे उपासना या दर्शन

ये फैसले रविवार रात मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक (Review Meeting) में लिए गए. मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में केवल उन्हीं धार्मिक स्थानों (religious places) को खोलने की अनुमति होगी जहां सामान्य दिनों में हर रोज 50 या इससे कम लोग आते हैं. इन स्थानों पर एक समय में सीमित संख्या में लोग उपासना, दर्शन या अन्य धार्मिक कार्यों के लिए मौजूद रह सकेंगे.

इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजेशन और मास्क पहनने आदि स्वास्थ्य प्रोटोकॉल समेत भारत सरकार की ओर से धार्मिक स्थानों के लिए जारी SOP के पालन को सुनिश्चित किया जाना चाहिए.

सरकार के लिए सबसे जरूरी है जीवन की सुरक्षा

गहलोत ने कहा कि लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से बंद हुए धार्मिक स्थानों को खोलने के लिए जिला कलेक्टरों की अध्यक्षता में गठित की गई कमेटियों के सुझावों के आधार पर शहरों में सभी और ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े धार्मिक स्थलों को फिलहाल नहीं खोला जाएगा. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के लिए सबसे महत्वपूर्ण जीवन की सुरक्षा है.

20 जून को राज्य में शुरू हुआ कोरोना जागरूकता अभियान अब 7 जुलाई को समाप्त होगा. यह अभियान जागरूकता फैलाने के लिए शुरू किया गया था. गहलोत ने इस अभियान को सफल बताया.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts