कांग्रेस से गठबंधन की चाह में सोशल मीडिया पर उड़ी केजरीवाल की खूब खिल्ली!

बीजेपी ने कहा कि जो केजरीवाल शीला दीक्षित के भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाकर चुनाव लड़े थे, रॉबर्ट वाड्रा के घोटाले को मुद्दा बनाकर चुनाव जीते थे वो अब दिल्ली के सीएम बनकर जनता को धोखा दे रहे हैं.

आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक बार फिर सोशल मीडिया में जनता के निशाने पर आ गए है. अरविंद केजरीवाल कांग्रेस के साथ लोकसभा चुनावों में गठबंधन को लेकर बेक़रार हैं लिहाज़ा गाहे बगाहे गठबंधन न होने का दर्द केजरीवाल की ज़ुबां पर आ ही जाता है। मंगलवार को दिल्ली की जामा मस्जिद के करीब एक जनसभा को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि, ‘मैं कई दिनों से काग्रेस को गठबंधन के लिए मिन्नतें कर रहा हूँ लेकिन कांग्रेस गठबंधन को तैयार नहीं हुई.’

वो अपने समर्थकों को बताना चाहते थे कि गठबंधन ना करके कांग्रेस दिल्ली में बीजेपी की जीत का रास्ता साफ करना चाहती है, लेकिन केजरीवाल के बयान के बाद कांग्रेस की तरफ से शीला दीक्षित ने जवाब दिया. उन्होंने अपने पलटवार में कहा कि केजरीवाल से गठबंधन को लेकर किससे बात हुई ये उन्हें पता नहीं, केजरीवाल स्पष्ट करें कि गठबंधन की बात उन्होंने किससे की, क्यों की..  उनके पास तो कोई भी गठबंधन प्रस्ताव लेकर नहीं आया है…

पूर्व सीएम और अब दिल्ली प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष शीला दीक्षित के बयान के बाद बीजेपी को चुटकी लेने का मौका मिल गया. उसने कहा कि जो केजरीवाल शीला दीक्षित के भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाकर चुनाव लड़े थे , रॉबर्ट वाड्रा के घोटाले को मुद्दा बनाकर चुनाव जीते थे वो अब दिल्ली के सीएम बनकर जनता को धोखा दे रहे हैं. वो उस पार्टी से गठबंधन करना चाह रहे हैं जिसके खिलाउ लड़कर दिल्ली के मुख्यमंत्री बने. गठबंधन की उनकी चाह बताती है कि उनके लिए आदर्श और सिद्धांत मायने नहीं रखते.

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी की नोकझोंक में बीजेपी घी डाल रही है तो दूसरी तरफ सोशल मीडिया में केजरीवाल की जमकर खिल्ली उड़ाई जा रही है.