MNS raided on suspicion of being a Bangladeshi, बांग्‍लादेशी होने के शक में MNS ने मारा छापा, थाने लाकर पुलिस ने कागज देखे तो निकले इंडियन
MNS raided on suspicion of being a Bangladeshi, बांग्‍लादेशी होने के शक में MNS ने मारा छापा, थाने लाकर पुलिस ने कागज देखे तो निकले इंडियन

बांग्‍लादेशी होने के शक में MNS ने मारा छापा, थाने लाकर पुलिस ने कागज देखे तो निकले इंडियन

मामला पुणे के धनकवड़ी के बालाजीनगर इलाके में गुलमोहर अपार्टमेंट का है. जहां शनिवार को करीब 40-50 MNS कार्यकर्ताओं ने पुलिस की तरह तीन घरों में रेड की. उन्हें शक था कि इन घरों में बांग्लादेशी रहते हैं.
MNS raided on suspicion of being a Bangladeshi, बांग्‍लादेशी होने के शक में MNS ने मारा छापा, थाने लाकर पुलिस ने कागज देखे तो निकले इंडियन

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के करीब 40-50 कार्यकर्ताओं ने शनिवार को तीन घरों में खुसकर वहां रह रहे लोगों से उनकी नागरिकता साबित करने को कहा. चौंकाने वाली बात यह है कि इस दौरान उनके साथ कुछ पुलिसकर्मी भी मौजूद थे.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, मामला पुणे के धनकवड़ी के बालाजीनगर इलाके में गुलमोहर अपार्टमेंट का है. जहां शनिवार को करीब 40-50 MNS कार्यकर्ताओं ने पुलिस की तरह तीन घरों में रेड की. उन्हें शक था कि इन घरों में बांग्लादेशी रहते हैं. जिसके बाद पुलिस ने तीन लोगों को शक के आधार पर हिरासत में ले लिया.

हालांकि पूरा दिन थाने में बैठाने के बाद और दस्तावेज देखने के बाद इन तीनों को पुलिस ने छोड़ दिया. इन तीनों की पहचान दिलशाद मंसूरी, रोशन शेख और बप्पी सरदार के रूप में हुई है. यह तीनों पश्चिम बंगाल के रहने वाले हैं.

MNS कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

जानकारी के मुताबिक दिलशाद वहां कच्छी दाबेली स्टॉल चलाते हैं, बप्पी एक इलेक्ट्रीशियन हैं और रोशन शेख सोने-चांदी के गहनों पर पॉलिश करने का काम करते हैं. इस घटना के बाद रोशन ने इन सभी एमएनएस कार्यकर्ताओं के खिलाफ उत्पीड़न की शिकायत भी दर्ज कराई है.

जांच पूरी होने के बाद भी दिनभर थाने में बैठाया

रोशन शेख ने बताया, “मैं पश्चिम बंगाल के हुग्ली जिले का रहने वाला हूं. इस दौरान पुलिस ने हुग्ली में रह रही मेरी मां को फोन किया. मेरी मां के बताने के बाद भी पुलिस ने उन्हें पास के थाने में जाकर मेरी नागरिकता और जन्मस्थान का प्रमाण लाने को कहा.”

रोशन ने आगे बताया कि यह सुनने के बाद मेरी मां पांडुआ पुलिस स्टेशन पहुंची और वहां मौजूद अधिकारियों से पुणे पुलिस से बात करने की गुहार लगाई. उन्होंने आगे बताया कि यह सब प्रक्रिया पूरी होने के बाद भी पुलिस ने मुझे शाम 6 बजे तक बैठाए रखा.

वहीं पुणे पुलिस के ACP सरजेराव बाबार ने बताया कि ये तीनों भारतीय ही हैं और पूछताछ के बाद इनको छोड़ दिया गया था. ACP ने बताया कि इन तीनों में से एक शख्स ने MNS कार्यकर्ताओं के खिलाफ शिकायत भी दर्ज कराई है. हम मामले की जांच कर रहे हैं. जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें:

सरकार के 100 दिन पूरा होने पर 7 मार्च को शिवसैनिकों संग अयोध्या जाएंगे उद्धव ठाकरे

MNS raided on suspicion of being a Bangladeshi, बांग्‍लादेशी होने के शक में MNS ने मारा छापा, थाने लाकर पुलिस ने कागज देखे तो निकले इंडियन
MNS raided on suspicion of being a Bangladeshi, बांग्‍लादेशी होने के शक में MNS ने मारा छापा, थाने लाकर पुलिस ने कागज देखे तो निकले इंडियन

Related Posts

MNS raided on suspicion of being a Bangladeshi, बांग्‍लादेशी होने के शक में MNS ने मारा छापा, थाने लाकर पुलिस ने कागज देखे तो निकले इंडियन
MNS raided on suspicion of being a Bangladeshi, बांग्‍लादेशी होने के शक में MNS ने मारा छापा, थाने लाकर पुलिस ने कागज देखे तो निकले इंडियन