पीएम मोदी ने दिया दखल तो शुरू हुआ 25 साल पुराना प्रॉजेक्ट

बता दें कि यह प्रॉजेक्ट्स साल 1995 से ही धरातल पर आने की बाट जोह रहा था. जिस पर पीएम मोदी की नजर साल 2015 में पड़ी, जिसके बाद इस प्रॉजेक्ट को एक नई रफ्तार दी गई.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 9:03 am, Fri, 24 January 20

रेलवे मिनिस्ट्री ने बुधवार को स्टेटस रिपोर्ट शेयर किया है. इस रिपोर्ट के अनुसार ओडिशा के सबसे पिछड़े इलाकों में से एक खुर्दा-बलांगीर के बीच रेलवे लाइन बनाने का काम सही रफ्तार से चल रहा है. बता दें कि यह प्रॉजेक्ट्स साल 1995 से ही धरातल पर आने की बाट जोह रहा था. जिस पर पीएम मोदी की नजर साल 2015 में पड़ी, जिसके बाद इस प्रॉजेक्ट को एक नई रफ्तार दी गई.

साल 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रशासन और विभिन्न प्रॉजेक्ट्स की समीक्षा के लिए प्रगति बैठक की अध्यक्षता की. पीएम मोदी की नजर इस रेलवे प्रॉजेक्ट पर पड़ी और इसकी स्टेटस रिपोर्ट से वे अस वक्त बेहद नाराज हुए थे. इस बैठक में ओडिशा के 289 किलोमीटर की चर्चित खुर्दा-बलांगीर रेलवे ट्रैक को मंजूरी दी.

पीएम मोदी ने उस वक्त पीएमओ के अधिकारियों से कहा था कि यह इलाका सबसे गरीब और जरूरतमंदों का है, जो बाकी इलाकों से पिछड़े हैं. सरकारी मदद की इन्हें बेहद जरूरत है. पीएम ने कहा था कि इस प्रॉजेक्ट को प्राथमिकता देने की जरूरत है. यदि साल 2000 तक काम खत्म हो गया होता प्रॉजेक्ट की कीमत भी कम होती और पूर्वोत्तर भारत के लोगों को इसका फायदा भी मिलता.

ये भी पढ़ें –  किसी को बिना फाइन लिए नहीं छोड़ा, सेंट्रल रेलवे के चार TC ने की एक-एक करोड़ से ज्‍यादा की वसूली