• Home  »  अभी अभीबिजनेस   »   सैमसंग ने अमेरिकी कंपनी के साथ किया ऐतिहासिक समझौता, 5G नेटवर्क के लिए मुहैया कराएगी सेवाएं

सैमसंग ने अमेरिकी कंपनी के साथ किया ऐतिहासिक समझौता, 5G नेटवर्क के लिए मुहैया कराएगी सेवाएं

स्मार्टफोन के साथ साथ टेलिकॉम नेटवर्क ( Telecom Network ) में भी दावेदारी बढ़ाने की चाहत में सैमसंग ( Samsung )ने अबतकक की सबसे बड़ी डील की है।

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 6:24 pm, Mon, 7 September 20

दक्षिण कोरियाई कंपनी सैमसंग ने 5G नेटवर्क की सेवाएं मुहैया कराने के लिए अमेरिकी की टेकनॉलिजी कंपनी वराइजन के साथ समझौता किया है। कहा जा रहा है कि दक्षिण कोरिया के नेटवर्क इतिहास का सबसे बड़ा समझौता है। दरअसल सैमसंग अमेरिकी कंपनी वराइजन को करीब 6.6 अरब डॉलर के नेटवर्क की आपूर्ति करेगा, जो नेटवर्क के क्षेत्र में अबतक की सबसे बड़ी डील है। यह सौदा इतना बड़ा है कि यह सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों की 2019 की 230 खरब डॉलर की बिक्री के 3.43 प्रतिशत के बराबर है।

5जी उपकरण का विस्तार

दरअसल सैमसंग ने हाल के वर्षो में अपने 5जी उपकरण के ग्राहक पूल का विस्तार करने की कोशिश कर रहा है। कंपनी ने एक बयान में कहा, “हम अपने नेटवर्क की अगली पीढ़ी के विकास को आगे बढ़ाने के लिए वेराइजन के साथ दीर्घकालिक साझेदारी कर रहे हैं। इस नए अनुबंध के साथ, हम वेराइजन के ग्राहकों के लिए मोबाइल अनुभवों को बेहतर करने के लिए 5जी की नवाचार की सीमाओं को आगे बढ़ाते रहेंगे।” समाचार एजेंसी योनहा की रिपोर्ट के अनुसार, सैमसंग ने अमेरिका के अलावा कनाडा, न्यूजीलैंड और जापान जैसे देशों में भी 5जी उपकरणों को लेकर करार किए हैं।

सबसे बड़े टेलिकॉम बाजार पर पकड़ बनाने की चाहत

अमेरिका दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल टेलीकम्युनिकेशन बाजार है, जो इसके बुनियादी ढांचे में वैश्विक नेटवर्क निवेश का लगभग एक चौथाई खर्च करता है। इसलिए सैमसंग भी इस समझौते के जरिए इस बाजार पर अपनी पकड़ मजबूत करना चाह रहा है। अमेरिका चीन की हुआवे कंपनी पर सुरक्षा कारणों से दबाव बना रहा है। यह कंपनी दुनिया की शीर्ष 5जी उपकरण आपूर्तिकर्ता है। उद्योग के विशेषज्ञों ने भविष्यवाणी की है कि सैमसंग 5जी उपकरण बाजार में अपनी उपस्थिति का विस्तार कर सकता है। मार्केट ट्रैकर आईएचएस मार्किट के अनुसार, पिछले साल 26.2 प्रतिशत शेयर के साथ हुआवे 5जी उपकरण के लिए वैश्विक बाजार में अग्रणी खिलाड़ी था, उसके बाद स्वीडन का एरिक्सन 23.4 प्रतिशत और सैमसंग 23.3 प्रतिशत के साथ दूसरे और तीसरे नंबर पर था।