हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए साथ आए शिरोमणि अकाली दल और INLD, किया गठबंधन

SSD, जो केंद्र में सत्तारूढ़ NDA का हिस्सा है, ने कलानवाली के अपने विधायक बलकौर सिंह के बीजेपी में चले जाने के बाद राज्य में बीजेपी से नाता तोड़ लिया था.

  • TV9.com
  • Publish Date - 7:44 am, Thu, 3 October 19
haryana elections
File Pic

हरियाणा में बीजेपी के साथ गठबंधन खत्म होने के कुछ दिनों बाद, शिरोमणि (SSD) अकाली दल ने बुधवार को राज्य विधानसभा चुनाव में INLD के साथ गठबंधन करने की घोषणा की है. SSD, जो केंद्र में सत्तारूढ़ NDA का हिस्सा है, ने कलानवाली के अपने विधायक बलकौर सिंह के बीजेपी में चले जाने के बाद राज्य में बीजेपी से नाता तोड़ लिया था.

SAD ने राज्य में 2014 के विधानसभा चुनाव INLD के साथ गठबंधन में लड़ा था. उनका गठबंधन 2017 में सतलुज-यमुना लिंक नहर के मुद्दे पर खत्म हो गया था. गुरुवार को अकाली उम्मीदवारों ने कलांवाली, रतिया और गुहला चीका से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया.

SSD के उपाध्यक्ष दलजीत सिंह चीमा ने बुधवार शाम को कहा कि बाकी की सीटें, जो कि INLD के साथ संयुक्त रूप से लड़ी जाएंगी, 3 अक्टूबर को उन सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान किया जाएगा. घोषित की जाएंगी. हालांकि, उन्होंने यह बताने से इनकार कर दिया कि SSD अपने उम्मीदवारों को कितनी सीटों पर मैदान में उतारेगी.

बीजेपी पर SAD ने लगाया धोका देने का आरोप

एक बयान में, SSD प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि पार्टी संरक्षक प्रकाश सिंह बादल और INLD सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए रतिया और कलानवाली के उम्मीदवारों के साथ जाएंगे.

चीमा ने कहा कि राम कुमार रेवगर जागीर गुहला चीका से SAD-INLD उम्मीदवार होंगे. SSD शुरू में हरियाणा विधानसभा चुनावों के लिए बीजेपी के साथ गठबंधन करने की कोशिश कर रहा था. हालांकि, इसे अमल में नहीं लाया जा सका.

SAD ने अकाली विधायक बलकौर सिंह को बीजेपी की सूची में शामिल करने के लिए “अनैतिक” करार दिया. SAD ने बीजेपी पर लोकसभा चुनावों के लिए “समर्थन” करने के बाद संयुक्त रूप से हरियाणा विधानसभा चुनाव लड़ने की अपनी प्रतिबद्धता से पीछे हटने का भी आरोप लगाया था.

ये भी पढ़ें: ‘विलय का तो सवाल ही नहीं उठता, गठबंधन हो सकता है,’ शिवपाल यादव ने दिया बड़ा बयान