खांसी के लिए अस्पताल जाने की जरूरत नहीं, घरेलू नुस्खे अपनाएं

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (National health mission) की आयुष इकाई के महाप्रबंधक डॉ. रामजी वर्मा का कहना है कि सूखी खांसी व गले में खराश को दूर करने में आयुष का घरेलू उपचार बहुत ही कारगर है.इसके साथ ही योग, ध्यान और प्राणायाम का भी सहारा लिया जा सकता है.
home remedies for cough and cold, खांसी के लिए अस्पताल जाने की जरूरत नहीं, घरेलू नुस्खे अपनाएं

कोरोना (Corona) संकट के इस दौर में हल्की खांसी और गले में खराश को लेकर बहुत परेशान होने की जरूरत नहीं है. मौसम में बदलाव और ठंडा-गर्म खानपान के कारण यह समस्या हो सकती है. इसके लिए अस्पताल जाने की जरूरत नहीं है, क्योंकि इसकी दवा तो आपकी रसोई में ही मौजूद है. बस, जरूरत है उसे जानने और दूसरों को समझाने की. आयुर्वेद के इसी ज्ञान से खुद और दूसरों को सुरक्षित रखा जा सकता है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

कारगर है घरेलू उपचार 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की आयुष इकाई के महाप्रबंधक डॉ. रामजी वर्मा का कहना है कि सूखी खांसी व गले में खराश को दूर करने में आयुष का घरेलू उपचार बहुत ही कारगर है. इसके लिए ताजे पुदीने के पत्ते और काला जीरा को पानी में उबालकर दिन में एक बार भाप लेने से इस तरह की समस्या से राहत मिल सकती है. इसके अलावा लौंग के पाउडर को मिश्री-शहद के साथ मिलाकर दिन में दो से तीन बार सेवन करने से इस तरह की समस्या दूर हो सकती है.

डॉ. वर्मा का कहना है कि अगर इसके बाद भी परेशानी ठीक नहीं होती है, तब डॉक्टर की सलाह लें. उन्होंने बताया कि इसके अलावा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के एक से बढ़कर एक नुस्खे आयुर्वेद में मौजूद हैं, जिसको आजमाकर हम कोरोना ही नहीं दूसरी कई संक्रामक बीमारियों को भी अपने से दूर रख सकते हैं . इन नुस्खों के कोई साइड इफेक्ट भी नहीं हैं.

डॉ. वर्मा ने बताया कि खाने में हल्दी, धनिया, जीरा और लहसुन का इस्तेमाल भी इसमें बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है. इसके अलावा दूध में हल्दी मिलाकर पीना, गुनगुना पानी और हर्बल चाय का काढ़ा पीकर भी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं. इसके साथ ही योग, ध्यान और प्राणायाम का भी सहारा लिया जा सकता है. बदली परिस्थितियों में आप यही छोटे-छोटे नुस्खे आजमाकर स्वस्थ रह सकते हैं, क्योंकि अभी अस्पताल और डॉक्टर कोरोना के मरीजों की जांच और देखरेख में व्यस्त हैं. इसलिए अस्पतालों में अनावश्यक दबाव बढ़ाने से बचें और सुरक्षित रहें.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts