Coronavirus: 21 दिनों तक बुजुर्ग, बच्चे और युवा कैसे घर में खुद को बोर होने से बचाएं? पढ़ें

अक्सर ऐसा देखा जाता है कि घर पर रहकर लोग मानसिक रूप (Mental Health) से कमजोर होने लगते हैं, चिड़चिड़ाने लगते हैं. ऐसे में आपकों अपनी सेहत का ध्यान रखने की काफी जरूरत है. यह बुजुर्ग और युवाओं दोनों के लिए है.

कोरोना वायरस जैसी वैश्विक महामारी ने देश में कोहराम मचा रखा है. पहले कई राज्यों ने लॉकडाउन घोषित किया था, लेकिन जब लोग घरों में रहने से बाज नहीं आए तो उनकी सुरक्षा और स्वास्थ्य के मद्देनजर कल यानी मंगलावर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रात 12 से पूरे देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा कर दी. अब ऐसे में लोगों को अपने घरों में ही कैद होकर रहना होगा और अगर होने कोई जरूरी सामान चाहिए तो ही वो अपने घरों से निकल पाएंगे.

अक्सर देखा जाता है कि जब हम एक या दो दिन घर में बैठ जाते हैं तो हमें बोरियत महसूस होने लगती है. अब जब हमें पता है कि 21 दिनों तक घर से बाहर नहीं निकलना है तो अभी से कई लोगों के प्राण सूखने लगे होंगे, पर 21 दिन का लॉकडाउन करने की घोषणा आपके स्वास्थ्य को ध्यान में रखकर ही की गई है, इसलिए बाहर निकलने की भूल कतई न करें.

ये 21 दिन बुजुर्ग, बच्चे और युवा घरों में कैसे बिता सकते हैं और अपनी बोरियत को कैसे छू मंतर कर सकते हैं इसके बारे में आज हम आपको कुछ टिप्स देते हैं. अगर आप इन्हें अपनाते हैं तो ये 21 दिन कैसे बीत जाएंगे शायद आपको पता भी न चले.

अक्सर ऐसा देखा जाता है कि घर पर रहकर लोग मानसिक रूप से कमजोर होने लगते हैं, चिड़चिड़ाने लगते हैं. ऐसे में आपको अपनी सेहत का ध्यान रखने की काफी जरूरत है. यह बुजुर्ग और युवाओं दोनों के लिए है.

ऐसे होगी बुजुर्गों की बोरियत दूर

1. चलिए सबसे पहले बात करते हैं घर के बड़ों की यानी बुजुर्गों की. लॉकडाउन से सबसे अच्छी बात यह हुई है कि जब आज के दौर में इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में युवाओं के पास अपने करियर और अपनी पर्सनल लाइफ के अलावा कुछ भी महत्वपूर्ण नहीं है, वो अब घर रहकर अपने बड़ों के साथ समय बिता सकते हैं.

2. बुजुर्गों को गार्डनिंग का काफी शौक होता है. अगर आपको भी गार्डनिंग करना पसंद है तो अपने घर की छत पर ही कुछ नए पौधे लगा सकते हैं. इसके लिए आपको बाहर जाने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी. अगर घर में पहले से मिट्टी पड़ी है तो उसका इस्तेमाल कर लीजिए और घर में रखी सब्जियों के बीज निकालकर उन्हें मिट्टी में बौ दें. अब रोज सुबह-शाम इनकी देखभाल करिए.

3. सुबह-शाम की वॉक छूट गई है तो ऐसा नहीं है कि आप अपनी सेहत पर ध्यान नहीं देंगे. रोजाना घर की छत पर टहलिए और साथ ही योग भी कीजिए.

4. अगर आप टीवी देखने के शौकीन हैं तो आप अपनी पसंद की सीरीज देख सकते हैं.

5. कई महिलाएं पहले ऊनी सिलाई का काम करती थीं. कुछ अब भी करती हैं. अगर आप भी पहले ऐसा कुछ करती थीं और घर में ऊन और सिलाई है तो बस 21 दिन में कुछ अच्छा सा बना डालिए.

बच्चों को बोर होने से कैसे बचाएं?

सेल्फ आइसोलेशन के दौरान बच्चों को बाहर खेलने जाने से रोकना एक बहुत ही मुश्किल टास्क है और यह तब और ज्यादा कठिन हो जाता है जब घर में दो-तीन बच्चे हों. ऐसे में बच्चों को घर में बोर होने से कैसे बचाया जाए इसके लिए जरूरी टिप्स…

1.कुछ मजेदार एक्टिविटीज वाली चिट बनाएं और उसमें उनके 21 दिन के काम डिसाइड कर दें. अब इन चिट को फोल्ड कर एक बॉक्स में डालें और अपने बच्चे से रोज एक निकलवाएं. जिस दिन, जिस चिट में जो काम लिखा होगा वो काम बच्चा करे. काम भी ऐसे होने चाहिए, जिसमें बच्चे की रुचि हो और वह खेल-खेल में कुछ सीखे. जैसे पेंट करना, चॉक ड्रॉइंग करना, केक बनाना आदि.

2. इसके अलावा बच्चों के साथ आप इंडोर गेम खेल सकते हैं, जैसे लूडो, कैरम, चैस.

3. बच्चों को आउटिंग पर तो ले जा नहीं सकते तो उन्हें इंटरनेट के जरिए दिलचस्प और मजेदार जगहों की घर ही बैठे सैर कराएं.

4. साथ ही कई बेहतरीन कार्टून फिल्में और सीरीज भी आप अपने बच्चों को दिखा सकते हैं, ताकि वो घर में बोर फील न करें. क्रूड्स, फ्रोजेन, आइस एज, श्रेक, स्मर्फ्स, मेडागास्कर, दिल्ली सफारी, लिटिल सिंघम और वीर द रोबो बॉय. ये कुछ इंग्लिश और हिंदी फिल्में हैं जो आप बच्चों को दिखा सकते हैं.

यूं करें युवा अपनी बोरियत छू मंतर

अरस्तु ने कहा था कि हम सभी सोशल एनिमल्स हैं. तो हम कैसे खुद को सेल्फ आइसोलेट कर सकते हैं? खैर इस संकट की घड़ी में हमारा सेल्फ आइसोलेट होना जरूरी है और ऐसे में खुद को बोर होने से युवा कैसे बचाएं चलिए जानते हैं.

1.अपने अधूरे शौक पूरे कीजिए, जैसे पेंटिग या क्राफ्टिंग करना. समय न मिल पाने के कारण जो किताबें नहीं पढ़ पा रहे थे उन्हें पढ़िए.

2. नए साल पर जो रिजॉल्युशन लेते हैं उसे पूरा करने का इससे सही समय शायद कोई ओर नहीं हो सकता है. जो आपने नए साल पर रिजॉल्युशन लिया उसे आप इन 21 दिनों में कुछ हद तक पूरा कर सकते हैं, जैसे कि कुछ लोगों का होता है वजन कम करना. (लाइक मी)

3. कुकिंग का शौक है तो यह 21 दिन आपके लिए वरदान हैं. इन 21 दिनों में आप नई-नई डिश बनाना सीख सकते हैं.

4. उन कामों को निपटा सकते हो जिन्हें कई दिन से निपटाने का सोच रहे थे, इससे काम भी निपट जाएगा और बोरियत भी नहीं होगी. जैसे कपड़ो की अलमारी सेट करना और बुक रैक को सेट करना.

5. अगर आप फिल्मों और नई-नई सीरीज के शौकीन हैं तो इन दिनों नेटफ्लिक्स, हॉटस्टार और अमेजॉन प्राइम पर कई सीरीज उपलब्ध हैं.

6. इसके अलावा वर्क फ्रोम होम तो आप कर ही रहे होंगे. ऐसे में ऑफिस के साथियों से थोड़ा ग्रुप पर हंसी का माहौल बनाकर रखिए, ताकि कोई भी घर में बैठने के तनाव के साथ-साथ काम का तनाव न ले.

7. सबसे महत्वपूर्ण, अपनी सेहत का ध्यान रखना काफी जरूरी है, इसलिए वर्कआउट, मेडिटेशन और योग जरूर करें.

Related Posts