कैसे काम करती है पीरियड्स की डेट आगे बढ़ाने वाली दवा, जानिए इसके साइड इफेक्ट

Periods की डेट आगे बढ़ाने वाली दवाएं हमेशा डॉक्टर की सलाह पर ली जाती हैं जो जरूरत और शरीर के हिसाब से दवा देते हैं. लेकिन जब तक बहुत ज्यादा जरूरी नहीं हो, इस तरह की दवाओं को लेने से बचना चाहिए.
side effects of medicine for periods delay, कैसे काम करती है पीरियड्स की डेट आगे बढ़ाने वाली दवा, जानिए इसके साइड इफेक्ट

माहवारी, मासिक धर्म या Periods महिलाओं में हर महीने होने वाली ब्लीडिंग को कहते हैं. सामान्यतः 10-15 वर्ष की आयु में लड़कियों में मासिक धर्म होना शुरू होते हैं. वैसे तो माहवारी एक सामान्य प्रक्रिया है, जिसके अनुभव हर लड़की में अलग होते हैं. कई बार कुछ ज़रूरी परिस्थितियों या मजबूरी में पीरियड की तारीख आगे बढ़ानी पड़ती है, जिसके लिए कई दवाएं बाजार में उपलब्ध हैं. लेकिन इनका सेवन कभी भी डॉक्टर की सलाह के बिना नहीं करना चाहिए वरना इसके कई साइड इफेक्ट हो सकते हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

कैसे काम करती है यह दवा-

पीरियड की तारीख आगे बढ़ाने वाली दवाएं एक तरह से हार्मोन बैलेंस करने का काम करती हैं. इनमें नॉर-एथिस्टेरोन  (Norethisterone) पाया जाता है, जिसमें प्रोजेस्टेरोन  (Progesterone) की दवाएं होती हैं. प्रोजेस्टेरोन एक तरह का फीमेल-हॉर्मोन है जो इन दवाओं के सहारे बढ़ जाता है. इसका लेवल बढ़ने के साथ ही गर्भाशय (Uterus) की परत गिरने से रुकती है, इस परत के न गिरने से पीरियड्स नहीं आते हैं. दवा का सेवन बंद करने के बाद शरीर में हॉर्मोन के लेवल को सामान्य होने में वक्त लगता है. हालांकि दवा बंद करने के 3-4 दिन बाद माहवारी आ जाती है,लेकिन अलग-अलग लोगों पर इस दवा का असर भी अलग-अलग होता है.

कब ली जाती है यह दवा-

ये दवाएं हमेशा डॉक्टर की सलाह पर ली जाती हैं जो जरूरत,परिस्थितियों और शरीर के हिसाब से दवा देते हैं. ज्यादातर मामलों में  यह दवा पीरियड की अपेक्षित तारीख से तीन दिन पहले ली जाती है.

side effects of medicine for periods delay, कैसे काम करती है पीरियड्स की डेट आगे बढ़ाने वाली दवा, जानिए इसके साइड इफेक्ट

माहवारी की तारीख आगे बढ़ाने वाली दवाओं के साइड इफेक्ट्स-

अधिकतर मामलों में पीरियड की डेट आगे बढ़ाने वाली दवाएं प्रभावी पाई जाती हैं और उन्हें लेने से ज्यादा परेशानी भी नहीं होती है. लेकिन जब तक बहुत ज्यादा जरूरी नहीं हो, इस तरह की दवाओं को लेने से बचना चाहिए. इनके इस्तेमाल से शरीर पर कई तरह के साइड इफेक्ट हो सकते हैं.

*ये दवाएं शरीर के नेचुरल हार्मोन फ्लो को बिगाड़ देती हैं जिससे माहवारी अनियमित हो जाती है.

*इन दवाओं से त्वचा पर रैशेज़, मुहांसे हो सकते हैं.

*इसके सेवन से चक्कर आना, सिरदर्द, माइग्रेन की दिक्कत हो सकती है.

*इससे हार्मोन असुंतलन, मूड स्विंग्स की समस्या हो जाती है.

*इन दवाओं के इस्तेमाल से वजन बढ़ सकता है.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts