सेविंग के ये हैं पांच फंडे

Share this on WhatsAppनयी दिल्ली नौकरीपेशा लोगों के लिए पैसा सेव करना एक बहुत बड़ी समस्या है. महीने की पहली तारीख को जैसे ही सैलरी आती है पैसा कहां जाता है, इसका पता ही नहीं चलता. आज हम आपको कुछ ऐसी टिप्स बताने जा रहे हैं, जो आपको सेविंग में मददगार साबित हो सकते हैं. […]

नयी दिल्ली

नौकरीपेशा लोगों के लिए पैसा सेव करना एक बहुत बड़ी समस्या है. महीने की पहली तारीख को जैसे ही सैलरी आती है पैसा कहां जाता है, इसका पता ही नहीं चलता. आज हम आपको कुछ ऐसी टिप्स बताने जा रहे हैं, जो आपको सेविंग में मददगार साबित हो सकते हैं.

1. आपका जितना भी खर्चा होता है, उसका एक बजट तैयार करें और अपने खर्चों का एक रिकॉर्ड बनाएं. बजट तैयार करने के बाद उसी के हिसाब से चलेंगे तो आपका काफी पैसा सेव होगा.

2. अगर आप वाकई में अपना पैसा सेव करना चाहते हैं तो आपको अपने मन को बहुत ही कठोर बनाना पड़ेगा. आप एक गोल सेट करो कि हर महीने आप अपनी सैलरी का इतना (जितना आप चाहते हैं) अमाउंट सेव करोगे ही. उस पैसे को आपको बिलकुल भी नहीं छेड़ना है. अगर आप ऐसा करते हैं तो देखेंगे कि आपका धीरे-धीरे पैसा सेव होना शुरू हो गया.

3. क्या आपने थ्री डे टेस्ट किया है? अगर आपने थ्री डे टेस्ट नहीं किया है तो अपनी आदतों को बदलने के लिए आप इसे अपना सकते हैं. किसी भी शॉपिंग साइट पर जाकर कुछ पसंद करें लेकिन उसे खरींदे नहीं बल्कि उसे कार्ट में डाल दें. तीन दिनों तक उसके बारे में सोचिएगा भी नहीं, फिर देखना आप उसके बारे में भूल जाएंगे. यह उपाय आपको इसलिए दिया गया है क्योंकि अक्सर ऐसा होता है कि हम कुछ खरीदते हैं लेकिन एक दो दिन बाद हमें वो चीज़ पसंद नहीं आती, जिसके कारण बहुत पैसा खर्च हो जाता है. थ्री डे टेस्ट से होगा कि आपकी बेमतलब का खर्चा करने की बुरी आदत खत्म हो जाएगी.

4. पैसे की बचत करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है कि आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना छोड़ दें. क्रेडिट कार्ड से चीज़ें तो पहले खरीद लेते हैं लेकिन बाद में जब पैसे देने होते हैं तो रोने लगते हैं. कुछ खरीदना है तो दूसरे मीडियम से भी खरीददारी की जा सकती है और पैसा सेव भी होगा.

5. दोस्तों के साथ बाहर घूमने जाने के बजाए उनके साथ घर पर मौज-मस्ती करें. हर हफ्ते बाहर घूमने जाया जाए यह जरूरी नहीं. कभी-कभी हैंगआउट के लिए जा सकते हैं लेकिन पैसे सेव करने हैं तो अपनी लाइफस्टाइल में भी थोड़ा बदलाव लाएं.