जब मोदी पजामा पहनना शुरू कर रहे थे तब नेहरू-इंदिरा ने सेना बना दी थी: कमलनाथ

मध्य प्रदेश की 16 सीटों पर लोकसभा चुनाव के लिए मतदान होना बाकी है. उससे पहले TV9 भारतवर्ष पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का इंटरव्यू.

लोकसभा चुनाव 2019 में मतदान के 5 चरण पूरे हो चुके हैं. मध्य प्रदेश में वोटिंग होने वाली है. उसके पहले TV9 भारतवर्ष की तरफ से वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का इंटरव्यू लिया. उस इंटरव्यू की खास बातें ये हैं:

किसानों की कर्जमाफी के वादे पर क्या हुआ? राहुल गांधी ने कहा था सरकार बनने के 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ होगा. इस पर कमलनाथ ने कहा साढ़े चार महीने सरकार बने हुए हैं. 124 दिन, जिनमें से 75 दिन काम करने के लिए रहे उसके बाद आचार संहिता लागू कर दी गई. 75 दिनों में हमने अपनी नीयत और नीति का परिचय दिया. हमने शिवराज सिंह जी को 21 लाख किसानों की सूची दी है जिनका कर्ज माफ किया गया है. ये लोग जो आरोप लगा रहे हैं वो पूरी तरह झूठ हैं.

हमने सरकार बनाने के घंटे भर में आदेश दे दिया. कैबिनेट ने 10 दिन में फैसला दे दिया. लेकिन 10 दिन में 47 लाख किसानों का कर्ज माफ किया जा सकता है क्या? उत्तर प्रदेश में 2 साल हो गए, कितना हुआ? हमने 21 लाख लोगों का कर्ज माफ किया है, 75 दिनों में. अब ये कह रहे हैं 10 दिन में क्यों नहीं किया? 7 मई को चुनाव आयोग ने हमें स्वीकृति दी है कि अब आप कर सकते हैं. इनके (विपक्ष) के पास झूठ के अलावा कुछ नहीं है. हमने कहा था हम फसल ऋण माफ करेंगे. किसी ने शादी के लिए, मकान बनाने के लिए कर्जा लिया, वो हमने कभी नहीं कहा था. जो योजना है वो फसल ऋण माफी योजना है.

बिजली बार बार जाने के आरोप पर कमल नाथ ने कहा बिजली का ब्रेक डाउन हो रहा है क्योंकि बीजेपी के लोग इतना बौखलाए हुए हैं कि तार काट रहे हैं, शॉर्ट सर्किट कर रहे हैं कर्मचारियों से मिलकर. हमने 500 से ज्यादा कर्मचारियों पर कार्रवाई भी की है. ये ब्रेक डाउन कर रहे हैं और हमारे पास इसकी फोटो हैं. हमने कहा था बिजली बिल आधा होगा, हमने किया.

बेरोजगारों का मजाक उड़ाने के सवाल पर कहा कि हमने कब कहा था कि 70 प्रतिशत रोजगार देंगे. हमने कहा था जो 70 प्रतिशत नया रोजगार होगा वो स्थानीय लोगों को मिलेगा. अब जो रोजगार हो रहा है उसमें 70 प्रतिशत मध्य प्रदेश के लोगों को मिल रहा है.

कमलनाथ के नेतृत्व में मध्य प्रदेश में कांग्रेस को कितनी सीटें मिलेंगी, इस पर कमलनाथ ने कहा 29 में से 22.

भोपाल में कौन जीतेगा इस पर कहा कि अगर भोपाल में बीजेपी की स्थिति सही होती तो क्या वो प्रज्ञा को वहां से उतारते? उज्जैन और जबलपुर इनका गढ़ माना जाता था. मैं उज्जैन में था, वहां इनकी हालत खस्ता है. अगर इनके गढ़ में ये हालत है तो बाकी सीटों पर क्या होगा?

कमलनाथ ने क्या दिग्विजय सिंह को भोपाल में फंसा दिया, ये पूछने पर बोले कि मैंने उन्हें सुझाव दिया था कि ये अपने गृह सीट से न लड़ें. पहले तो वो राज्यसभा के सदस्य हैं. मैंने कहा अगर लड़ना है तो ऐसी सीट से लड़िए जो कांग्रेस की कमजोर सीट है. उन्होंने सोच विचार कर स्वीकार किया.

बीजेपी राष्ट्रवाद, सेना और हिंदू मुस्लिम की बातें करके कामयाब होती रही है, क्या पता जनता उसी बात पर जिता दे? इस सवाल पर कमलनाथ ने कहा कि मैं पूछता हूं मोदी जी से जो राष्ट्रवाद की बात करते हैं वो बताएं, क्या उनकी पार्टी में कोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी है? देश की सुरक्षा की बात कर रहे हैं जैसे कि देश पांच साल पहले असुरक्षित था. जब मोदी जी ने पैंट पजामा पहनना नहीं सीखा था तब नेहरू जी ने, इंदिरा जी ने हमारी फौज बनाई थी, नेवी बनाई थी, एयरफोर्स बनाई थी. सैनिक स्कूल बनाए थे, डिफेंस एकेडमी बनाई थी. सबसे भयानक आतंकी हमले तब हुए जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार केंद्र में रही.

संसद पर हमला, कारगिल, सब इनके शासनकाल में हुआ. और अब पुलवामा. ये कहते हैं कि सर्जिकल स्ट्राइक की. उसमें क्या किया ये खुलासा करने में क्या परहेज़ है?

प्रधानमंत्री मोदी के राजीव गांधी के नाम पर चुनाव लड़ने की चुनौती वाले सवाल पर कमलनाथ ने कहा कि ये नौजवानों की बात नहीं करेंगे जिनके भविष्य को अंधकार में ले गए. किसानों की बात नहीं करेंगे. पाकिस्तान पर चल पड़ेंगे, राहुल गांधी पर चल पड़ेंगे, राजीव गांधी पर चल पड़ेंगे. क्योंकि इनके पास कोई जवाब नहीं है.

प्रधानमंत्री मोदी कमलनाथ पर निजी हमले करते हैं, कहा कि उनके लिए भ्रष्टाचार ही शिष्टाचार है, इस पर क्या कहेंगे? कमलनाथ ने कहा कि मोदी जी मुझे भ्रष्ट कह रहे हैं. उन्होंने जो हजार करोड़ का ऑफिस बनाया है क्या वो बीजेपी नेताओं ने अपनी बीवियों के गहने बेचकर बनवाया है.

पूरा इंटरव्यू यहां देखें:

ये भी पढ़ें:

मारने-काटने की है उनकी मानसिकता, पीएम मोदी पर कमलनाथ का हमला

पीएम मोदी ने मैथिली शरण गुप्त का नाम लेकर एक गलती की, कमलनाथ ने कसा तंज़

‘चुनाव के लिए बीजेपी नेताओं की बीवियां अपने जेवर बेच रही हैं क्‍या?’ कमलनाथ का पीएम मोदी से सवाल