ये चुनाव रहा विवादित बयान और माफी के नाम, इन नेताओं ने बयान देकर बोला सॉरी

Share this on WhatsAppलोकसभा चुनाव 2019 के अंतिम चरण की वोटिंग बाकी है. ये चुनाव कई मामलों में दिलचस्प रहा. इतने बयानों के बीच नेता कनफ्यूज हुए जा रहे थे कि किस पर माफी मांगनी है और किस पर माफी मांगने की मांग करनी है. रोजाना कोई विवादित बयान आ रहा है. उस पर माफी […]

लोकसभा चुनाव 2019 के अंतिम चरण की वोटिंग बाकी है. ये चुनाव कई मामलों में दिलचस्प रहा. इतने बयानों के बीच नेता कनफ्यूज हुए जा रहे थे कि किस पर माफी मांगनी है और किस पर माफी मांगने की मांग करनी है. रोजाना कोई विवादित बयान आ रहा है. उस पर माफी मांगने का हल्ला होता है. फिर माफी मांग ली जाती है. ये राजनीति का ‘सॉरी कल्चर’ है, जिसकी नई पुरोधा प्रज्ञा ठाकुर हैं. गांधी की हत्या करने वाले गोडसे को देशभक्त बताया और बवाल होने पर माफी मांग ली.

pragya thakur, ये चुनाव रहा विवादित बयान और माफी के नाम, इन नेताओं ने बयान देकर बोला सॉरी

पिछले साल मार्च में आम आदमी पार्टी पूरी तरह से माफी पार्टी बनी हुई थी. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी के नितिन गडकरी, अरुण जेटली और कांग्रेस के कपिल सिब्बल से माफी मांगी थी. उनके पीछे संजय सिंह और मनीष सिसोदिया ने भी माफी मांग ली थी. जनता ने भारी मौज ली. कुमार विश्वास से तल्खी यहीं से बढ़ गई थी.

अरविंद केजरीवाल ने नॉनस्टॉप माफीनामे देकर राजनीति वाकई बदल दी. लेकिन वो न तो पहले थे, न ही आखिरी. हम यहां उन नेताओं की बात करते हैं जिन्होंने इस चुनाव के दौरान कीर्तिमान

सैम पित्रोदा

pragya thakur, ये चुनाव रहा विवादित बयान और माफी के नाम, इन नेताओं ने बयान देकर बोला सॉरी

इन्हें मणिशंकर अय्यर 2.0 कहा गया. पित्रोदा ने 1984 सिख दंगों पर कहा था ‘हुआ सो हुआ.’ इस पर राहुल गांधी ने कहा कि पित्रोदा को माफी मांगनी पड़ेगी. सैम पित्रोदा ने माफी मांगते हुए कहा कि मेरी हिंदी कमजोर है. मेरे कहने का मतलब था जो हुआ, बुरा हुआ. माफी मांग ली लेकिन डैमेज तो हो ही चुका था.

राहुल गांधी

pragya thakur, ये चुनाव रहा विवादित बयान और माफी के नाम, इन नेताओं ने बयान देकर बोला सॉरी

राहुल गांधी खुद माफी मांग चुके हैं लेकिन किसी नेता से नहीं, सुप्रीम कोर्ट से. अपने ‘चौकीदार चोर है’ वाले नारे को जस्टिफाई करने के लिए सुप्रीम कोर्ट का सहारा ले लिया था. उनके माफी मांगने पर कनफ्यूजन भी पैदा हो गई कि अपने नारे पर माफी मांग ली है. फिर राहुल गांधी ने क्लियर किया कि सुप्रीम कोर्ट का हवाला देने पर माफी मांगी है, चौकीदार चोर वाले नारे पर नहीं.

प्रज्ञा ठाकुर

pragya thakur, ये चुनाव रहा विवादित बयान और माफी के नाम, इन नेताओं ने बयान देकर बोला सॉरी

इस लेख की शुरुआत ही प्रज्ञा ठाकुर के बयान से हुई थी. प्रज्ञा ठाकुर ने बीजेपी से टिकट मिलते ही विवादित बयानों का खाता खोल दिया था. 26/11 मुंबई आतंकी हमले में शहीद हुए हेमंत करकरे के बारे में प्रज्ञा ठाकुर ने कहा था कि वो उनके श्राप से मरे. बीजेपी ने इस बयान से भी खुद को अलग कर लिया था.

सतपाल सत्ती

pragya thakur, ये चुनाव रहा विवादित बयान और माफी के नाम, इन नेताओं ने बयान देकर बोला सॉरी

हिमाचल प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सतपाल सत्ती अपने बड़बोलेपन के कारण प्रसिद्ध हैं. सारी सीमाएं पार करते हुए मंच से इन्होंने राहुल गांधी को मां की गाली दे दी थी. इन्होंने ही डेरा ब्यास पर टिप्पणी करके लोगों की धार्मिक भावनाएं भड़का दी थीं. कांग्रेस नेता विनय शर्मा ने हिमाचल प्रदेश के 17 थानों में FIR दर्ज कराई थी. मामला तूल पकड़ता देख सतपाल सत्ती ने माफी मांग ली थी.

ये सिर्फ इस चुनाव में माफी मांगने वालों के नाम हैं. गोडसे पर बयान देकर पहले भी नेता फंस चुके हैं. 2014 में साक्षी महाराज ने गोडसे को महिमा मंडित किया था. तब उनको तीन बार माफी मांगनी पड़ी थी. माफी पॉलिटिक्स में अभी बाकी गुनाह कमतर हैं लेकिन कानून से सज़ा पा चुके अपराधी को देशभक्त बोल देना क्या क्षम्य अपराध है? ये सोचना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें:

गोडसे को देशभक्त बताने वाली प्रज्ञा ठाकुर को मन से माफ नहीं कर पाएंगे तो क्या सज़ा मिलेगी?

महात्मा गांधी को पाकिस्तान का राष्ट्रपिता बताने वाले बीजेपी नेता को पार्टी ने किया निलंबित

प्रज्ञा ठाकुर के गोडसे वाले बयान पर केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े ने किया समर्थन, फिर कहा ‘हैक हुआ अकाउंट’

राहुल गांधी ने कहा- भाजपा और आरएसएस GOD-ke लवर नहीं GOD-Se लवर हैं