स्मृति ईरानी ने अमेठी जीतकर कहा- कौन कहता है आसमां में सुराख हो नहीं सकता

राहुल गांधी पिछले 15 साल से लाखों वोट से अमेठी जीतते आ रहे थे. इस बार किला ध्वस्त हो गया.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी से हार चुके हैं. स्मृति ईरानी से 38 हजार 449 वोटों से हारे. स्मृति ईरानी को 3 लाख 11 हजार 992 वोट मिले. इसी सीट पर पिछले तीन लोकसभा चुनावों में लाखों वोटों के मार्जिन से जीतने वाले राहुल गांधी को 2 लाख 73 हजार 543 वोट मिले.

अमेठी देश की वीवीआईपी सीटों में शामिल है. कांग्रेस के राहुल गांधी और बीजेपी की स्मृति ईरानी के बीच मुकाबला था. गठबंधन ने यहां अपना प्रत्याशी नहीं उतारा था. मायावती ने कहा था बसपा को सपोर्ट करने वाले राहुल गांधी को वोट दें. अब यहां नतीजे आ चुके हैं.

राहुल गांधी 2004 में पहली बार अमेठी से सांसद चुने गए. तब से लगातार 15 साल सांसद रहे. अमेठी का इतिहास कुछ ऐसा है कि 1967 के बाद यहां से कांग्रेस सिर्फ 2 बार हारी है. 2014 में राहुल ने स्मृति ईरानी को 1.07 लाख वोटों से हराया था. इस बार राहुल गांधी ने अमेठी के अलावा केरल के वायनाड से भी चुनाव लड़ा था.